कोरोनावायरस पर स्वास्थ्य सचिव ने की समीक्षा बैठक
Saturday, 15 February 2020 11:08

  • Print
  • Email

नई दिल्ली: केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव प्रीति सुदान ने शुक्रवार को कोरोनावायरस संक्रमण रोकथाम संबंधी एक समीक्षा बैठक की। इस बैठक में नेपाल के सीमावर्ती क्षेत्रों में चौकसी और स्क्रीनिंग चाक-चौबंद रखने के निर्देश दिए गए हैं। उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल व सिक्किम से लगने वाली नेपाल सीमा पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना वायरस की जांच के लिए विशेष टीमें तैनात की हैं। चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ कोरोना वायरस का संक्रमण नेपाल तक पहुंच चुका है। यही कारण है कि भारत सरकार सीमावर्ती क्षेत्रों में विशेष चौकसी बरत रही है।

स्वास्थ्य सचिव प्रीति सुदान ने कहा, "भारत में कोरोनावायरस की स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है। प्रधानमंत्री स्वयं इसकी निगरानी कर रहे हैं, प्रधानमंत्री ने कोरोनावायरस से निपटने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के नेतृत्व में मंत्री समूह का गठन भी किया है।"

नेपाल सीमा से भारत आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की सघन थर्मल स्कैनिंग की जा रही है। उधर, भूटान और मालदीव जैसे पड़ोसी देशों की स्थिति पर भी भारत सरकार नजर बनाए हुए हैं। भूटान और मालदीव में कोरोना वायरस संक्रमण रोकने में भारत सरकार महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है।

इसके अलावा भारत पहला देश है, जिसने कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए सबसे पहले यात्रा परामर्श जारी किया।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा, "भारत ने कोरोना वायरस के नमूनों की जांच में मालदीव को और सीओवीआईडी-19 के प्रबंधन में भूटान को सहयोग दिया है। नमूनों की जांच में भारत ने अफगानिस्तान को सहयोग देने पर सहमति व्यक्त की है। भारत ने चीन में सीओवीआईडी-2019 से निपटने के लिए आवश्यक सामग्रियां भेज कर चीन को सहायता दी है।"

केरल में तीन छात्र कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण से प्रभावित होने वाले यह तीनों छात्र चीन के वुहान शहर से स्वदेश लौटे हैं।

स्वास्थ्य सचिव प्रीति सुदान ने कहा, "इनमें से एक छात्र अब स्वस्थ है और गुरुवार को उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।"

कोरोनावायरस की समीक्षा बैठक में विदेश, नागर विमानन, गृह राज्य, जहाजरानी, पर्यटन और विभिन्न राज्यों के अधिकारियों ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शिरकत की।

--आईएएनएस

 

 

 

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.