मोदी ने पीएम-किसान, आयुष्मान भारत को लेकर ममता सकरार पर साधा निशाना
Monday, 13 January 2020 09:25

  • Print
  • Email

कोलकाता: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाएं आयुष्मान भारत और पीएम-किसान का जिक्र करके पश्चिम बंगाल सरकार पर निशाना साधा। प्रधानमंत्री ने अप्रत्यक्ष रूप से बताया कि राज्य सरकार द्वारा पश्चिम बंगाल में इन दोनों योजनाओं के लागू होने में रोड़ा अटकाने के कारण प्रदेश के लोग इन योजनाओं के लाभ से वंचित हैं।

मोदी ने कहा, "जैसे ही राज्य सरकार आयुष्मान भारत योजना और पीएम-किसान सम्मान निधि के लिए स्वीकृति दे देगी, 'मैं नहीं जानता हूं कि देगी या नहीं देगी' लेकिन अगर (स्वीकृति) दे देगी तो यहां के लोगों को इन योजनाओं का लाभ भी मिलने लगेगा।"

प्रधानमंत्री यहां कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट के 150 साल पूरे होने पर आयोजित एक समारोह में लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, "मैं आपको बता दूं कि आयुष्मान भारत के तहत देश के करीब 75 लाख गरीब मरीजों को गंभीर बीमारी की स्थिति में मुफ्त इलाज मिल चुका है। आप कल्पना कर सकते हैं कि जब गरीब बीमारी से जूझता है तो जीने की भी आस छोड़ देता है और जब गरीब को बीमारी से बचने का सहारा मिल जाता है तो उसके आशीर्वाद अनमोल होते हैं।"

मोदी ने कहा, "आज मैं चैन की नींद सो पाता हूं क्योंकि ऐसे गरीब परिवार लगातार आशीर्वाद बरसाते रहते हैं।"

प्रधानमंत्री ने कहा कि इसी तरह पीएम-किसान सम्मान निधि के तहत देश के आठ करोड़ से अधिक किसान परिवारों के बैंक खाते में लगभग 43,000 करोड़ रुपये डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के जरिए जमा हो चुके हैं।

उन्होंने प्रदेश सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि इसमें कोई बिचौलिया नहीं, कोई कट नहीं कोई सिंडिकेट नहीं है और जब सीधा पहुंचता है और सिंडिकेट का चलता नहीं है तो ऐसी योजना कोई क्यों लागू करेगा।

प्रधानमंत्री ने कहा, "देश के आठ करोड़ किसानों को इतनी बड़ी मदद, लेकिन मेरे दिल में हमेशा दर्द रहेगा, हमेशा चाहूंगा, ईश्वर से प्रार्थना करूंगा कि नीति निर्धारकों को इस पर सद्बुद्धि दे और गरीबों को बीमारी में मदद के लिए आयुष्मान भारत योजना और किसानों की जिंदगी में सुख-शांति का रास्ता पक्का हो, इसके लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ मेरे बंगाल के गरीबों को मिले, मेरे बंगाल के किसानों को मिले।"

मोदी ने कहा, "बंगाल की जनता का मिजाज मैं जानता हूं, भलीभांति जानता हूं। बंगाल की जनता की ताकत है कि आज इन योजनाओं से लोगों को कोई वंचित नहीं रख पाएगा।"

मोदी ने कहा, "साथियों, पश्चिम बंगाल के अनेक वीर बेटे-बेटियों ने जिस गांव और गरीब के लिए आवाज उठाई, उनका विकास हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए। यह किसी एक व्यक्ति या सरकार की जिम्मेदारी नहीं है बल्कि पूरे भारतवर्ष का सामूहिक संकल्प, सामूहिक दायित्व और सामूहिक पुरुषार्थ भी है।"

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.