Print this page

भाजपा ने ठाकरे परिवार के भरोसे को चोट पहुंचाई : सावंत
Tuesday, 12 November 2019 04:21

नई दिल्ली: शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने सोमवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर आरोप लगाया कि उसने लोकसभा चुनाव से पहले शिवसेना से जो वादा किया था, उसे तोड़ दिया और यह भी कह दिया कि कोई वादा नहीं किया गया था। उन्होंने कहा कि भाजपा ने ऐसा कह कर ठाकरे परिवार को चोट पहुंचाई है। सावंत ने कहा कि लोकसभा चुनाव से पूर्व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने '50-50 के अनुपात' में विधानसभा चुनाव लड़ने और सरकार भी इसी अनुपात में बनाने वादा किया था, लेकिन उन्होंने वह वादा तोड़ दिया। इस घटना ने भाजपा-शिवसेना गठबंधन के जारी रखने पर सवाल खड़े कर दिया है।

केंद्रीय भारी उद्योग मंत्री के पद से सोमवार को इस्तीफा दे चुके सावंत ने कहा, "राज्य में नई सरकार और नया गठबंधन बनेगा।"

उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, "मैंने 30 मई को भारी उद्योग मंत्रालय संभाला था। लेकिन लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा अध्यक्ष (अमित शाह) और उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री पद के लिए 50-50 फॉर्मूले पर सहमत हुए थे।"

सावंत ने कहा कि शिवसेना के खिलाफ झूठे आरोप अस्वीकार्य हैं।

सावंत ने कहा, "इससे अपना 'वचन' निभाने के लिए प्रसिद्ध ठाकरे को चोट पहुंची है।"

उन्होंने कहा, "इसलिए हालिया घटनाओं के बाद मंत्री बने रहना ठीक नहीं है, इसीलिए मैंने इस्तीफा देने का फैसला किया है।"

यह पूछने पर कि क्या शिवसेना भाजपा की अगुआई वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से निकल रही है? उन्होंने कहा, "मेरे कदम से इसका मतलब कोई भी समझ सकता है।"

उनका यह बयान शिवसेना-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) को सरकार बनाने के लिए कांग्रेस द्वारा बाहर से समर्थन देने की खबरों के बीच आया है।

हाल ही में संपन्न विधानसभा चुनाव में प्रदेश की 288 सीटों में से भाजपा को 105, शिवसेना को 56, राकांपा को 54 और कांग्रेस को 44 सीटों पर जीत मिली थी।

यह पूछने पर कि क्या वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिले? उन्होंने कहा, "मैंने मिलने का समय मांगा था, लेकिन मुझे समय नहीं मिला, जिसके बाद मैंने इस्तीफा दे दिया।"

उन्होंने कहा कि वह पार्टी की तरफ से थे, लेकिन 'जब विश्वास ही नहीं है तो कोई मतलब नहीं है।'

--आईएएनएस