कश्मीर के बाद अब अर्थव्यवस्था पर ध्यान दें : ट्विटर पर मोदी से आग्रह
Wednesday, 14 August 2019 22:33

  • Print
  • Email

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्विटर पर अनुसरण करने वालों ने आईएएनएस के साथ उनके साक्षात्कार के एक लिंक पर ट्वीट कर बुधवार को अपना विचार साझा करते हुए प्रधानमंत्री से अर्थव्यवस्था पर ध्यान देने का आग्रह किया। मोदी ने साक्षात्कार में अनुच्छेद 370 हटाने और मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर से लेकर गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और भ्रष्टाचार मिटाने व अन्य कई मसलों से संबंधित सवालों के जवाब दिए।

जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा प्रदान करने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को हटाने का ऐतिहासिक फैसला लेने के संबंध में मोदी ने कहा कि सात दशक से बनी यथास्थिति से लोगों की आकांक्षाओं की पूर्ति नहीं हो सकी।

ट्विटर का इस्तेमाल करने वाले अनेक लोगों ने इस साहसिक फैसले के लिए प्रधानमंत्री को बधाई दी, लेकिन कई यूजर ने उनसे अर्थव्यवस्था पर ध्यान देने की भी अपील की।

एक यूजर ने ट्वीट करते हुए कहा, "यह बेहतरीन इंटरव्यू है सर!! हम भाग्यशाली हैं कि आपके जैसे प्रधानमंत्री सर हमें मिले। कुछ फैसले आप ही ले सकते थे और कोई नहीं।"

एक अन्य यूजर ने लिखा, "अनुच्छेद 370, 35ए हटाने के लिए आपको धन्यवाद सर, हम जम्मू-कश्मीर के लोग दिल से आपका आभार जताते हैं।"

साक्षात्कार में मोदी ने कहा कि सिर्फ निहित स्वार्थ वाले समूह, राजनीतिक घराने और आतंकियों से सहानुभूति रखने वालों और विपक्ष के कुछ मित्रों ने कश्मीर पर फैसले का विरोध किया।

मोदी ने आईएएनएस से कहा, "मैं लोगों को भरोसा दिलाता हूं कि जम्मू-कश्मीर में चुनाव होगा और इन्हीं क्षेत्रों के लोग ही बड़े जनसमूह का प्रतिनिधित्व करेंगे।"

उन्होंने कहा, "कश्मीर पर शासन करने वाले समझते थे कि उनको शासन करने का दैवीय अधिकार मिला है और वही लोग लोकतंत्रीकरण का विरोध करेंगे और गलत कहानी गढ़ेंगे। वे नहीं चाहते हैं कि अपने बलबूते कोई युवा नेतृत्व उभर कर आए।"

मोदी ने कहा कि उनकी सरकार शिक्षा के सभी पहलुओं पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि स्कूली शिक्षा में सुधार लाने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और मशीन लर्निग जैसी प्रौद्योगिकी का फायदा उठाने की कोशिश की जा रही है।

उन्होंने कहा, "उच्च शिक्षा के क्षेत्र में हम लगातार देशभर के प्रमुख संस्थानों में सीट बढ़ाने और उपस्थिति में इजाफा करने का प्रयास कर रहे हैं। संस्थानों को अधिक स्वायत्तता दी जा रही है और अनुसंधान व नवाचार को बढ़ावा दिया जा रहा है।"

ट्विटर का इस्तेमाल करने वाले अनेक लोगों ने नई सरकार के 75 दिनों के 'कामकाज की आश्चर्यजनक रफ्तार' पर संतोष जाहिर की।

साक्षात्कार के दौरान मोदी ने कहा, "महज 75 दिनों की सरकार में काफी काम हुआ। बच्चों की सुरक्षा से लेकर चंद्रयान-2 तक और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई से लेकर मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक के अभिशाप से मुक्ति दिलाने और कश्मीर से लेकर किसान तक के मसले पर हमने दिखा दिया कि मजबूत जनादेश वाली एक कृतसंकल्प सरकार कितना कुछ कर सकती है।"

साक्षात्कार पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए एक ट्विटर यूजर ने कहा, "और यह महज शुरुआत है..।"

हालांकि अनेक यूजर ने अर्थव्यवस्था पर सुस्ती के मंडराते खतरे पर प्रधानमंत्री से अधिक ध्यान देने की अपील की।

एक यूजर ने कहा, "अनेक कार्यो के लिए आपकी सरकार को धन्यवाद, लेकिन कृपया अर्थव्यवस्था पर ध्यान दीजिए।"

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss