Parliament Budget session 2019: पीएम मोदी का तंज-क्‍या वायनाड, रायबरेली में लोकतंत्र हार गया
Wednesday, 26 June 2019 13:40

  • Print
  • Email

नई दिल्ली: लोकसभा और राज्यसभा (Rajya Sabha) में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर चर्चा कर गई। लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर जवाब देने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने बुधवार को राज्यसभा में अपना जवाब देते हुए विपक्ष पर हमला किया। लोकसभा चुनाव में हार के बाद विपक्ष द्वारा उठाए गए र्इवीएम के मुद्दे के अलावा उन्‍होंने बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार के प्रकोप का मुद्दा उठाया। इसके कारण होने वाली मौतों को शर्मिंदगी बताते हुए उन्‍होंने कहा कि यह हमारे सरकार की विफलता है। मैं बिहार सरकार के संपर्क में हूं।

प्रधानमंत्री ने एक के शेर के जरिए विपक्ष पर तंज कसा। उन्‍होंने कहा, ‘धूल चेहरे पर थी आईना साफ करता रहा...।‘ प्रधानमंत्री ने आगे कहा, 'अपनी गलतियों का श्रेय कांग्रेस को लेना चाहिए। एनआरसी हमारे लिए वोटबैंक का मुद्दा नहीं। एनआरसी लागू करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। सरदार पटेल की सबसे ऊंची प्रतिमा हमने बनाई। गुलाम नबी आजाद पर तंज कसते हुए उन्‍होंने कहा, ‘गुलाम नबी जी कुछ दिन गुजारिए गुजरात में।’

झारखंड में मॉब लिंचिंग पर प्रधानमंत्री ने दुख जताया। युवक की हत्‍या का दुख हम सबको है, मुझे भी है। दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलेगी। अपराध के लिए कानून और न्‍याय व्‍यवस्‍था है। क्‍या झारखंड को लिंचिंग फैक्‍ट्री कहना शोभा देता है। लिंचिंग के लिए पूरे झारखंड को कठघरे में खड़ा करना ठीक नहीं। हिंसा की घटनाओं को तेरा-मेरा न किया जाए। हर तरह की हिंसा पर एक तरह का रवैया होना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने न्‍यू इंडिया के विरोध पर हैरानी व्‍यक्‍त करते हुए सवाल किया- क्‍या हमें टुकड़े-टुकड़े गैंग के समर्थन वाला ओल्‍ड इंडिया चाहिए, जल–थल-नभ में घोटाला करने वालों को ओल्‍ड इंडिया चाहिए, क्‍या इंस्‍पेक्‍टर राज वाला ओल्‍ड इंडिया चाहिए। मैं न्‍यू इंडिया का विरोध देकर हैरान हूं देश के लोगों को निराशा में न धकेलें। न्‍यू इंडिया का मकसद देश को आगे ले जाना है।

 

 

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss