Print this page

आईओए अकेले राष्ट्रमंडल खेलों का बहिष्कार नहीं कर सकता : रिजिजू
Wednesday, 26 June 2019 11:32

नई दिल्ली: खेल मंत्री किरण रिजिजू ने मंगलवार को साफ कर दिया है कि 2022 बर्मिघम राष्ट्रमंडल खेलों में से निशानेबाजी को बाहर करने के बाद इन खेलों के बहिष्कार करने का फैसला भारतीय ओलम्पिक संघ (आईओए) अकेले नहीं ले सकता। मंत्री ने कहा कि इसके लिए उसे सरकार की मंजूरी की जरूरत होगी। रिजिजू ने जापान में आयोजित एफआईच विमेंस सीरीज फाइनल्स खिताब जीतकर लौटी भारतीय महिला टीम की सदस्यों से मुलाकात के बाद संवाददाताओं से बात करते हुए यह बात कही।

मंत्री ने कहा कि खेल मंत्रालय आईओए से बात करेगा। आईओए ने हाल ही में राष्ट्रमंडल खेल-2022 का बहिष्कार करने की धमकी दी है।

रिजिजू ने कहा, "अगर आपको खेलों का बहिष्कार करना है तो आपको सरकार से मंजूरी लेनी होगी क्योंकि इस तरह के फैसले, जिनमें खिलाड़ियों का भविष्य जुड़ा हो, अकेले नहीं लिए जा सकते। यह राष्ट्रीय सम्मान की बात है इसलिए जब इस तरह के फैसले लिए जाते हैं तो उसके लिए सभी की मंजूरी चाहिए होती है।"

इससे पहले, निशानेबाजी को खेलों से बाहर किए जाने के बाद आईओए के सचिन राजीव मेहता ने कहा था कि भारत के 2022 राष्ट्रमंडल खेलों की बहिष्कार की संभावना को नकारा नहीं जा सकता।

रिजिजू ने साथ ही राज्य सरकारों से खेल नीति में एकरूपता बनाए रखने की अपील की है।

उन्होंने कहा, "खेल एक राज्य का विषय है इसलिए मैं राज्य सरकारों से अपील करूंगा कि वह खेलों के विकास पर ध्यान दें।"

रिजिजू ने साथ ही कहा कि वह जल्द ही सभी राज्यों के खेल मंत्रियों के साथ बैठक कर सकते हैं।

--आईएएनएस