Print this page

नवजोत सिंह सिद्धू पर चुनाव आयोग का चाबुक, 72 घंटे तक चुनावी प्रचार पर रोक
Monday, 22 April 2019 23:17

नई दिल्‍ली: चुनाव आयोग ने पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को 23 अप्रैल 2019 को सुबह 10 बजे से 72 घंटे तक चुनाव से संबंधित किसी भी सार्वजनिक बैठक, रोड शो, सार्वजनिक रैली या प्रेस कॉन्फ्रेंस करने पर रोक लगा दी।  सिद्धू द्वारा आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन पर चुनाव आयोग ने नोटिस जारी किया है, नोटिस में बिहार में कटिहार जिले के बारसोई और बरारी में चुनाव प्रचार के दौरान उनके द्वारा दिए गए बयानों की निंदा की गई।

इससे पहले चुनाव आयोग उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍य नाथ, मेनका गांधी, बसपा प्रमुख मायावती और सपा नेता आजम खान के चुनाव प्रचार पर रोक लगाकर कार्रवाई कर चुका है।

गौरतलब है कि बिहार के कटिहार में दिए गए बयानों के बाद सिद्धू ने छत्तीसगढ़ में मुस्लिम समर्थन के लिए अल्लाह हू अकबर कहकर घिर गए। छत्तीसगढ़ सिख संगठन के प्रमुख अमरजीत सिंह ने सिद्धू के खिलाफ मोर्चा खोला है। अमरजीत सिंह छाबड़ा ने शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी को पत्र लिखकर नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने पत्र में लिखा है कि सिद्धू ने मुस्लिम समर्थन के लिए अल्लाह हू अकबर कहकर सिख धर्म के परंपरा और नियम का उल्लंघन किया है।

छाबड़ा ने कहा कि शीर्ष अदालत ने अक्टूबर-2016 में जारी अपने आदेश में कहा था कि कोई भी धर्म के नाम पर वोट नहीं मांग सकता है। छाबड़ा ने निर्वाचन आयोग को शिकायत भेजी थी।

इससे पहले नवजोत सिंह सिद्धू कटिहार में दिए गए बयानों को लेकर घिरे थे। इस मामले में चुनाव आयोग ने सिद्धू के उस बयान पर उनसे सफाई मांगी थी, जिसमें उन्होंने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हटाने के लिए सभी मुस्लिम मतदाताओं से एकजुट होने की अपील की थी।

चुनाव आयोग ने सिद्धू के खिलाफ कारण बताओ का नोटिस जारी किया था। चुनाव आयोग ने सिद्दू से 24 घंटे के भीतर जवाब दाखिल करने को कहा था। नवजोत सिंह सिद्धू ने बिहार के कटिहार में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए यह विवादित बयान दिया था। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने सिद्धू के इस बयान पर चुनाव आयोग से शिकायत की थी।