Print this page

विरोधियों की जमानत जब्त करा आयोग को दो जवाब : आकाश
Tuesday, 16 April 2019 18:16

आगरा: चुनाव आयोग की पाबंदी के कारण बहुजन समाज पार्टी(बसपा), समाजवादी पार्टी (सपा) और रालोद की आगरा में आयोजित संयुक्त रैली को उनके भतीजे आकाश आनंद ने संबोधित किया। उन्होंने अपनी राजनीतिक पारी की पहली रैली में कहा कि चुनाव आयोग ने बुआ पर रोक लगा दी है, ऐसे में विरोधियों की जमानत जब्त करा कर चुनाव आयोग को जवाब देने की बारी है।

आकाश ने कहा, "मैं आप लोगों के सामने पहली बार आया हूं। क्या आप मेरी बात मानोगे। गठबंधन के प्रत्याशियों को जीताकर सामने वाले की जमानत जब्त कराना है, तभी आप सभी का चुनाव आयोग को सही जवाब होगा।"

आकाश मायावती के भाई आनंद के पुत्र हैं। उन्होंने आगरा, मथुरा और फतेहपुर सीकरी से गठबंधन प्रत्याशी को जीताने की अपील के साथ अपने भाषण का समापन किया।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव, रालोद मुखिया अजीत सिंह और बसपा महासचिव सतीश मिश्रा की मौजूदगी में आकाश ने अपना तेज तर्रार संबोधन शुरू किया।

इस मौके पर सतीश मिश्रा ने कहा कि "केंद्र में मोदी की सरकार पांच वर्ष कार्यकाल पूरा कर चुकी है। उसमें वह विफल रही और वह जनता को धोखा देती रही।"

मिश्रा ने आरोप लगाया, "चुनाव में मतदाताओं को भटकाने के लिए ही पुलवामा में आतंकी हमले हुए। यह हमला खुफिया विफलता का नतीजा था। इसके लिए देश का मुखिया और सरकार जिम्मेदार है। भाजपा धार्मिक भावना भड़का कर हवा बनाती है। योगी आदित्यनाथ अली और बली की बात करके बांटने का काम कर रहे हैं।"

जनसभा को संबोधित करते हुए सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा, "आंधी, तूफान और बारिश के बावजूद सभा में लोगों का सैलाब उमड़ा है। लोगों के सिर नीला और हरा लाल रंग चढ़कर बोल रहा है। आयोग कितनी ही पाबंदी लगा ले, लेकिन गठबंधन भाजपा को पीछे छोड़ देगा। मायावती की आवाज भले ही दबा दी गई, लेकिन अब मशीन बोलेगी और आवाज उनके कानों में जाएगी।"

-- आईएएनएस