एसओजी टीम पहुंची मानेसर के वेस्टर्न कंट्री क्लब और तावड़ू के रिजॉर्ट, खुफिया विभाग अलर्ट
Monday, 20 July 2020 07:54

  • Print
  • Email

तावडू (नूंह): राजस्थान के सत्ता संग्राम की आंच तावडू तक महसूस की जा रही है। बताया जा रहा है कि बागी विधायकों के पास नहीं पहुंच पाने से एसओजी टीम से राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत खफा हैं। ताजा जानकारी के मुताबिक एसओजी मानेसर के वेस्टर्न कंट्री क्लब पहुंची है। वहीं, बागी विधायकों की कल उच्च न्यायालय से आने वाले फैसले पर नजर रहेगी।

बता दें एसओजी (स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप) की टीम अभी दिल्ली के आसपास मौजूद है। राजस्थान से भाजपा नेताओं एवं एसओजी टीम के आने की संभावना तो दिनभर जताई गई, लेकिन समाचार लिखे जाने तक कोई नहीं आया।

 हरियाणा पुलिस ने होटल के गार्ड को कह कर गेट बंद करवाया। एस ओ जी की टीम मुख्य द्वार पर खड़ी रही। एस ओ जी टीम के अधिकारी आईपीएस विकास शर्मा ने होटल मैनेजर को फ़ोन किया तब मैनेजर क्लब के मुख्य द्वार पर आया और एस ओ जी की टीम से बातचीत की और टीम वापिस दिल्ली के लिए रवाना हो गई। आप को बता दे कि लगातार हरियाणा पुलिस ने एस ओ जी की टीम को रोका जहां एस ओ जी की टीम को दोनो बार निराशा हाथ लगी। एस ओ जी की टीम को मानेसर के कंट्री में बागी कांग्रेस के विधायकों केे होने की सूचना पर एस ओ जी की टीम ने तीन गाड़ियों में सवार हो कर छापा मारने की कोशिश की लेकिन एस ओ जी की टीम हरियाणा पुलिस के आगे नतमस्तक नजर आई। फिर उन्हें वापस खाली हाथ लौटना पड़ा।

हालांकि होटल और रिजॉर्ट के आसपास पुलिस और खुफिया जरूर सक्रिय रहा। बताया जा रहा है कि होटल के अंदर से बागी विधायकों से जुड़ा एक वीडियो वायरल होने से भी बचा। सूत्रों के अनुसार होटल में विधायकों की सुरक्षा में करीब 30 बाउंसर तैनात हैं। सूत्रों की मानें तो शनिवार की रात कुछ विधायक दिल्ली के एक फार्म हाउस में गए थे जोकि सुबह होने से पहले वापस लौट भी आए।

बता दें कि राजस्‍थान में सियासी पारा दिनों-दिन चढ़ता ही जा रहा है। सीएम अशोक गहलोत और पूर्व डिप्‍टी सीएम सचिन पायलट के बीच आरोप-प्रत्‍यारोप के बीच भाजपा के नेता गजेंद्र सिंह शेखावत का नाम सामने आने से यह लड़ाई और तीखी होती जा रही है। विधायकों की खरीद-फरोख्त को लेकर जारी हुए ऑडियो टेप में नाम आने पर कांग्रेस ने केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत का इस्तीफा मांगा है। कांग्रेस ने कहा कि यदि या तो शेखावत खुद इस्तीफा दें, नहीं तो उन्हें मंत्री पद से हटाया जाए। पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता अजय माकन ने यह मांग की है। अजय माकन रविवार को जयपुर के फेयरमाउंट होटल में मीडिया से बात करने के दौरान यह मांग करते हुए कहा कि शेखावत दोषी नहीं हैं तो जांच में सहयोग करें। वह अपनी आवाज का सैंपल एसओजी को दें।

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss