गोवा : महिला प्रोफेसर पर एफआईआर के विरोध में शिक्षाविदों ने लिखा राज्यपाल को पत्र
Thursday, 12 November 2020 13:10

  • Print
  • Email

पणजी: एक फेसबुक पोस्ट के कारण लॉ कॉलेज की महिला सहायक प्रोफेसर के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने पर चिंता व्यक्त करते हुए गोवा में 37 लेखकों, वकीलों और शिक्षाविदों ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को पत्र लिखा है। इस पत्र में लिखा गया है, "यह अकादमिक स्वतंत्रता का व्यवस्थित तरीके से दमन करने, राजनीतिक रूप से प्रेरित सांप्रदायिक तनाव लाने और इस तटीय राज्य में शांति भंग करने वाला कदम था। हम शिल्पा सिंह पर इस हमले को अकादमिक स्वतंत्रता के व्यवस्थित दमन के रूप में देखते हैं, क्योंकि उसके भाषण और लेखन को लेकर उस पर मामला दर्ज किया जा रहा है।"

गोवा पुलिस ने 9 नवंबर को पणजी में वीएम सलगांवकर कॉलेज ऑफ लॉ में पढ़ाने वाली शिल्पा सिंह पर फेसबुक पोस्ट के जरिए धार्मिक भावनाओं को अपमानित करने के आरोप में मामला दर्ज किया था। यह मामला राजीव झा द्वारा उनके खिलाफ कथित रूप से हिंदूओं को अपमानित करने के लिए दर्ज कराया गया था।

इसके साथ-साथ पुलिस ने झा के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज की, जिसमें उन पर सिंह से छेड़छाड़ करने और फेसबुक टिप्पणियों के जरिए उन्हें अपमानित करने का आरोप लगाया गया है।

पत्र पर पद्मश्री डॉ. मारिया अरोरा कोट्टो, शिक्षाविद प्रोफेसर पीटर डी सूजा और राहुल त्रिपाठी, वकील नंदिता हक्सर, क्लोफेटो कॉटिन्हो, कैरोलीन कोलाको और सामाजिक कार्यकर्ता सबीना मार्टिन्स, प्रवीण सबनीस और अभिजीत प्रभुदेसाई ने हस्ताक्षर किए हैं।

पत्र में सिंह की सुरक्षा की मांग करते हुए लिखा गया है, "सिंह को मिल रही धमकियों और उनकी सुरक्षा के खतरे को देखते हुए उन्हें चौबीसों घंटे पर्याप्त सुरक्षा दी जानी चाहिए। यह राज्य का कर्तव्य है कि वह नागरिकों के संवैधानिक अधिकार की रक्षा करे।"

एफआईआर में सिंह पर आरोप लगाया गया है कि उनकी फेसबुक पोस्ट ने हिंदू धर्म और इस्लाम की रूढ़िवादी परंपराओं जैसे 'मंगलसूत्र' पहनने और 'बुर्का' पहने की आलोचना की।

--आईएएनएस

एसडीजे-एसकेपी

 

 

 

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss