कैसे संबंध बनाने का इशारा करते थे डायरेक्टर, एक्ट्रेस ने बताई आपबीती

2003 में मिस इंडिया का खिताब जीतने वाली तनुश्री दत्ता ने ‘आशिक बनाया आपने’ और ‘चॉकलेट’ जैसी फिल्मों के साथ सुर्खियां बटोरी थीं। 2010 में अपनी आखिरी फिल्म करने वाली तनुश्री लगभग 8 सालों तक बॉलीवुड से बाहर रही हैं। अमेरिकी नागरिकता मिलने के बाद वे मुंबई की ग्लैमर दुनिया छोड़ अमेरिका में बस गई थीं। वहां वे  मोक्ष, योग, ध्यान और स्पिरिचुएलिटी जैसी चीज़ों को एक्सप्लोर कर रही हैं।

तनुश्री ने नवभारत टाइम्स के साथ खास बातचीत में बताया कि ‘मैं इन दिनों अमेरिका में हूं और वहां फोटोशूट, इवेंट्स आदि करती रहती हूं। कुछ दिनों पहले ही मुंबई आई हूं। दरअसल अमेरिका में मेरे अपार्टमेंट की शिफ्टिंग का काम चल रहा है, जिसमें तीन से चार महीने लगने हैं। ऐसे में सोचा क्यों न इंडिया अपने परिवार वालों के पास आ जाऊं। इतने लंबे समय के लिए आई हूं, तो सोचा कुछ काम भी कर लूं। ऑफर्स तो आ रहे हैं, देखती हूं, मैं क्या सिलेक्ट करती हूं। हां इतना जरूर पता है कि टेलिविजन नहीं करना है।’

उन्होंने कास्टिंग काउच को लेकर अपने अनुभव को शेयर करते हुए कहा कि ‘कोई भी मुझसे डायरेक्टली इस तरह की बातें नहीं किया करता था,  इस तरह के लोग आपको इनडायरेक्टली अप्रोच करते हैं जैसे वो कहेंगे कि हम आपकी  बहुत रिस्पेकट करते हैं, हम आपके दोस्त हैं और इस तरह की बातें होती थी औऱ इन लोगों की कुछ इस तरह की मानसिकता होती है। एक बार एक डायरेक्टर ने मुझसे कहा था कि किसी भी डायरेक्टर का हीरोईन से मोहब्बत होना जरूरी है, ये प्यार होता है तभी फिर कैरेक्टर बाहर आ पाता है। मैं उस शख़्स की बात सुनकर मन ही मन काफी हंस रही थी लेकिन साथ ही साथ उसे सुनकर भी अनसुना कर रही थी। मुझे केवल इंडस्ट्री में ही नहीं बल्कि इंडस्ट्री के बाहर भी कई बार इस तरह की नेगेटिव वाइब्स मिली है। मैं उड़ती चिड़िया के पर दूर से ही देख लेती हूं और फिर उसी हिसाब से डील करती हूं।’

उन्होंने अपने करियर के बारे में कहा कि  ‘मैं अपने करियर को लेकर ज़्यादा महत्वाकांक्षी नहीं हूं। मिस इंडिया के बाद मुझे फिल्मों के रोल्स मिलने लगे थे, लेकिन कुछ साल काम करने के बाद फिल्में खास नहीं चल रही थी, मुझे लगा कि कुछ और कर लेते हैं, जिसमें ज्यादा दिलचस्पी है तो मैं अमेरिका चली गई थी।’