फिल्म हिट ना होने पर रोने लगते हैं आमिर खान, खुद खोले अपने राज

बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान का नाम आज बॉलीवुड के हिट स्टार्स की लिस्ट में शुमार है। लेकिन एक्टर को सफलता यूं ही हाथ नहीं लगी थी, अपनी पहचान बनाने के लिए उन्हें संघर्ष करना पड़ा था। बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट की फिल्में भले ही आज सिनेमाघरों में हिट साबित होती हैं, लेकिन उन्होंने वह दौर भी देखा है जब उनकी फिल्म बॉक्सऑफिस पर बुरी तरह से पिट जाती थीं। फिल्में के फ्लॉप होने पर आमिर खान रोने लगते थे। इस बात का खुलासा खुद दंगल एक्टर ने किया है। हाल ही में दिए एक इंटरव्यू के दौरान आमिर खान ने अपनी लाइफ से जुड़े कई राज खोले हैं।

अपनी फिल्मों के बारे में बात करते हुए आमिर खान ने कहा, ”मैं किसी भी फिल्म के निर्माण में दृढ़-निश्चय से भरपूर होता हूं, यदि फिल्म को नुकसान होता है मैं भी इसका शोक मनाना हूं। मैं रोता हूं जब मेरी फिल्में नहीं चलती हैं।” आमिर खान ने साल 1988 में रिलीज हुई फिल्म ‘कयामत से कयामत तक’ से बॉलीवुड डेब्यू किया था। इसके बाद ‘जो जीता वहीं सिकंदर’, ‘लगान’, ‘रंगीला’, ‘रंग दे बसंती’, ‘गजनी’, ‘3 इडियट्स’ जैसी फिल्मों में काम कर चुके हैं। आमिर खान की ‘पीके’ और ‘दंगल’ जैसी ऐसी कई फिल्में हैं जो बॉक्सऑफिस पर ब्लॉकबस्टर साबित हो चुकी हैं।

एक्टर ने आगे कहा, ”फिल्मों के हिट होने पर क्रेडिट मुझे भी मिलता है। यह निश्चित रूप से एक संयोग है कि मेरी ज्यादातर फिल्में सफल रही हैं। सच्चाई यही है कि कहानी को एक लेखक ही गढ़ता है। फिल्म निर्माण आगे की प्रक्रिया होती है जैसे- स्क्रिप्ट, लोकेशन, साउंड, एडिटिंग और मार्केटिंग। काम तब नहीं बनता है जब यह चीजें फेल होती हैं।” बता दें कि कुछ सालों पहले रिलीज हुई सलमान खान की फिल्म ‘बजरंगी भाईजान’ की स्क्रीनिंग से बाहर आने के बाद आमिर खान रो पड़े थे। इसके अलावा आमिर खान भांजे इमरान खान की फिल्म ‘कट्टी-बट्टी’ और बाद में सलमान की फिल्म ‘सुल्तान’ को देखकर भी रो पड़े थे। आमिर ने खुलासा किया कि उनके छोटे बेटे आजाद पीके को देखकर रो पड़े थे। एक्टर ने कहा, ”वह मेरी फिल्म को देखकर काफी डर गया था। पीके में उसने देखा कि कुछ लोग मुझे पीट रहे हैं जिसके बाद उसने रोना शुरू कर दिया था और उसे हॉल से बाहर ले जाना पड़ा था।”