सिंगल महिला को ‘उपलब्ध’ मानता है समाज! नीना गुप्ता ने बयां किया दर्द

अभिनेत्री नीना गुप्ता का नाम बॉलीवुड की मोस्ट टैलेंड अभिनेत्रियों में शुमार है। कुछ दिनों पहले नीना ने एक इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक पोस्ट शेयर कर काम मांगा था जिसके बाद वह काफी चर्चा में रही थीं। फिल्म ‘सांस’ में प्रिया कपूर के किरदार ने नीना को फिल्म जगत में पहचान दिलाई है। इसके अलावा वह रियल लाइफ में नीना एक मजबूत स्वतंत्र महिला हैं। नीना की असल जिंदगी की कहानी भी किसी फिल्म से कम नहीं है हालांकि नीना को इस बात का कोई दुख नहीं है। नीना ने एक पुराने इंटरव्यू में सिंगल वुमेन का दर्द बयां किया था और कहा कि सिंगल महिला को समाज हमेशा ‘उपलब्ध’ मानता है। नीना ने साल 2008 में विवेक मेहरा के साथ शादी के बंधन में बंधी थीं। नीना हाल ही में कान्स फिल्म फेस्टिवल का हिस्सा बनीं हैं।

साल 2015 में नीना से एक इंटरव्यू में सवाल किया गया था कि भारत में अभी भी महिलाओं की प्रगति का विरोध किया जाता है? नीना ने कहा, ”हां अभी भी हम रिग्रेसिव हैं, सिंगल महिला को हमेशा उपलब्ध माना जाता है। सिंगल महिलाओं को कोई सम्मान नहीं देता है। सिंगल महिला यह नहीं कर सकती, यह वह नहीं कर सकती। मुझे लगता है कि यदि आपको समाज में रहना है तो आपको कई नियम फॉलो करने पड़ेगें। मैंने भी कठिन समय देखा है क्योंकि मैं सिंगल महिला हूं, पुरूष मुझे पार्टी के लिए बुलाते थे। अब लोग मुझे नहीं बुलाते क्योंकि मैं शादी-शुदा हूं। हां, मैं महसूस करती हूं कि समाज में हमें आगे बढ़ने नहीं दिया जाता है। कुछ लोगों को मेरी बातें अच्छी नहीं लग सकती हैं, लेकिन मैं समाज की सभी सिंगल महिलाओं के लिए कह रही हूं।”

जब नीना से कहा गया कि आप 20 साल की नीना को क्या सलाह देना चाहती हैं? नीना ने कहा, ”आदमियों पर ध्यान देने की बजाए अपने काम पर ध्यान दो। नीना ने आगे कहा, ”लेकिन जो मैंने किया उसे निभाया, मैं उस चीज के लिए रोती नहीं हूं और न ही मैं एल्कहॉलिक हुई। मैं कभी कहती भी नहीं कि उसने मुझे धोखा दिया। यह मेरा फैसला था कि मैं उसके साथ अपनी लाइफ गुजारू। मैं रोती नहीं, भगवान से जो अच्छा मिलेगा उसे लूंगी।” कान्स फिल्म फेस्टिवल में बेटी मसाबा के बारे में बात करते हुए कहा, ”मुझे अच्छा लगता है कि लोग मुझे मेरी बेटी मसाबा के नाम से जानते हैं। मैं खुद में गर्व महसूस करती हूं।”

POPULAR ON IBN7.IN