एक्ट्रेस रिचा चड्ढा का मोदी सरकार पर निशाना- आज राज करने का तरीका है कोई भूखा हो तो उससे कहो राष्ट्रगान गाओ

 

बॉलीवुड अभिनेत्री रिचा चड्ढा ने नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा है। मौजूदा सरकार पर उन्होंने कहा, ‘ऐसा लगता है जैसे इस देश पर राज करने का तरीका यह कहना भर है कि आपके पास खाने को कुछ नहीं है तो आप राष्ट्रगान गाइए। आप नहीं जानते हैं तो आप सीखिए और फिर उसे गाइए।’ वह लोकतांत्रिक प्रणाली में सरकार को और जवाबदेह बनाने के महत्व पर भी बोलीं। बॉलीवुड अभिनेत्री ने कहा, ‘लोकतंत्र का मतलब है कि आप जो चाहे, जहां चाहे और जैसे चाहे अपनी बात कह सकते हैं और ऐसे में सरकार आपके प्रति जवाबदेह रहेगी। मैं लेफ्ट, राइट या सेंटर नहीं हूं। मैं कर देती हूं और जवाबदेही चाहती हूं। हालांकि, लोग डरे हुए हैं, इसिलए कुछ नहीं हो रहा है। वे भूल जाते हैं कि यह जनतंत्र है…जनता का शासन। आप अपने वोट से सरकार बनाते हैं। यदि वह आपके लिए सही काम नहीं करती है तो आपको सवाल पूछने का हक है।’

रिचा चड्ढा ने संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि विरोध तथ्यों के साथ करना चाहिए। उन्होंने सवाल उठाया कि पति के मरने के बाद पत्नी क्यों जौहर करे? करणी सेना हमें डराना चाहती हैं। बकौल अभिनेत्री, आप खुद से पूछिए आतंकवादी क्या चाहते हैं? वे भी आतंकित करना चाहते हैं, लेकिन इससे डरने की जरूरत नहीं है। हॉलीवुड की तर्ज पर बॉलीवुड अभिनेताओं द्वारा राजनीतिक बयान न देने के सवाल पर अभिनेत्री ने कहा कि जनता को सेलीब्रिटीज से बेहतर रोल मॉडल की जरूरत है। ऑनलाइन पोर्टल ‘द प्रिंट’ के अनुसार, रिचा चड्ढा ने कहा कि बॉलीवुड कलाकार अपनी जवाबदेही के बारे में भी सोचते हैं। हर शुक्रवार को जब 800 करोड़ रुपये दांव पर लगे हों तो ऐसे में फिल्मी हस्तियों से पॉलिटिकल स्टैंड लेने की अपेक्षा नहीं की जा सकती है। उन्होंने कहा, ‘जिस वक्त कोई यहां (बॉलीवुड) कुछ बोलता है, उसी क्षण वह अपनी आजीविका खो बैठता है। यहां हर कदम के आर्थिक परिणाम होते हैं।’

 

यौन उत्पीड़न के खिलाफ हथियार जुटा रहीं अभिनेत्रियां: रिचा चड्ढा ने बॉलीवुड में यौन उत्पीड़न की घटनाओं पर बेहद तल्ख प्रतिक्रिया दी है। उनके मुताबिक बॉलीवुड अभिनेत्रियां सही वक्त का इंतजार कर रही हैं, समय आने पर वे यौन उत्पीड़न के खिलाफ बोलेंगी। रिचा ने कहा, ‘मेरी समझ में अभिनेत्रियां हथियार और सबूत जुटा रही हैं, ताकि सही समय आने पर हमला बोला जा सके।’ हॉलीवुड पिछले साल यौन उत्पीड़न के मामलों को लेकर चर्चा में रहा था। फिल्म निर्माता हार्वी वींस्टीन पर एक के बाद एक कई हॉलीवुड अभिनेत्रियों ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए थे। अमेरिकी मीडिया के मुताबिक, हार्वी पर 13 से ज्यादा महिलाओं ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। बाद में एंजेलीना जॉली जैसी अभिनेत्री ने भी हार्वी पर आरोप लगाए थे। इस बीच, #MeeToo अभियान शुरू हो गया था। इसके तहत दुनिया भर की सैकड़ों महिलाओं ने अपने साथ हुए यौन उत्पीड़न की कहानी बयान की थी।

POPULAR ON IBN7.IN