पापा को 30 साल लगे थे, मुझे 15 दीजिए : सौंदर्या
Monday, 07 April 2014 07:03

  • Print
  • Email

मुंबई: सौंदर्या ने अपनी पहली निर्देशित फिल्म 'कोचादैयां' में अपने पिता और सुपरस्टार रजनीकांत को लेकर भले ही सुरक्षित दांव खेला हो, लेकिन लोगों की उम्मीदों का दबाव वह अब भी महसूस करती हैं।

सौंदर्या ने कहा कि यदि उनके पिता को पहचान बनाने में तीन दशक लगे तो उन्हें भी कम से कम 15 सालों का समय तो मिलना ही चाहिए।

उन्होंने कहा, "एक सुपरस्टार के बच्चों के लिए जिंदगी बहुत कठिन होती है, लोगों के लिए वह भी स्टार हैं और हमारे लिए वह सामान्य व्यक्ति हैं।"

सौंदर्या का विवाह चेन्नई के व्यवसायी अश्विन के साथ हुआ है। उन्होंने कहा, "सुपरस्टार के बच्चे होने के नाते हमसे लोगों को काफी उम्मीदें होती हैं। मेरे पिता आज सुपरस्टार हैं, लेकिन यहां तक पहुंचने में उन्हें 31 साल लगे हैं। मुझे कम से कम 15 साल तो दीजिए।"

सौंदर्या की पहली फिल्म 'कोचादैयां' 125 करोड़ रुपये की लागत से बनी भारत की पहली मोशन कैप्चर फोटो रियलिस्टिक थ्रीडी एनिमेशन फिल्म है। फिल्म एक मई को दुनियाभर के 6,000 सिनेमाघरों में छह भाषाओं में एक साथ प्रदर्शित की जा रही है।

अभिनेत्री दीपिका पादुकोण ने फिल्म में नायिका की भूमिका निभाई है। जैकी श्रॉफ, आर शरत कुमार, शोबना, नास्सर, आदि पिनिसेट्टी और रुकमिणी फिल्म के अन्य महत्वपूर्ण कलाकार हैं।

केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड ने 'कोचादैयां' को यू सर्टिफिकेट के साथ प्रदर्शन की अनुमति दी है।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

सुपरस्टार रजनीकांत ने एक बस कंडक्टर से तमिल सिनेमा के सुपरस्टार होने तक का सफर तय किया और आप उनके प्रशंसकों की संख्या करोड़ों में है।

सौंदर्या ने कहा, "किसी भी व्यवसाय या क्षेत्र की बात हो, जब किसी हस्ती के बच्चे का करियर शुरु होता है, तो उनसे कहीं ज्यादा उम्मीदें होती हैं और उन पर कहीं ज्यादा दबाव भी होता है। बेशक, हमारे पास सहूलियतें हैं, लेकिन हमपर दबाव भी होता है।"

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.