हार्दिक, राहुल जांच के चलते प्रतिबंधित

भारतीय टीम के हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या और लोकेश राहुल का शनिवार से सिडनी में शुरू हो रही तीन वनडे सीरीज में खेलने पर संशय बना है क्योंकि इन दोनों को टीवी चैनल पर शो के दौरान विवादित बयान को लेकर प्रतिबंधित कर दिया गया है। 

सर्वोच्च अदालत द्वारा नियुक्त की गई प्रशासकों की समिति (सीओए) की महिला सदस्य डायना इडुल्जी ने इन दोनों पर सजा तय होने तक प्रतिबंधित करने को कहा है। 

सीओए के अध्यक्ष विनोद राय ने इससे पहले इन दोनों पर दो वनडे मैचों का प्रतिबंध लगाने की बात कही थी। 

डायना ने इस संबंध में एक ईमेल लिखा है जिसकी प्रति आईएएनएस के पास है। उसमें लिखा है, "कानून को ध्यान में रखते हुए और जब तक इस मुद्दे को पूरी तरह से सुलझा लिया नहीं जाता तब तक, टीम संबंधित खिलाड़ियों से यह बात कह दे कि इस मामले में अगली कार्रवाई होने तक दोनों को प्रतिबंधित किया जाता है।"

इस संबंध में पांच सदस्यीय शीर्ष परिषद समिति का गठन किया गया है जिसमें अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव, संयुक्त सचिव और कोषाध्यक्ष शामिल हैं। यह समिति इस मसले की जांच करेगी। 

इस स्थिति में भारतीय टीम सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) पर होने वाले मैच में पांड्या और राहुल के बिना उतरेगी। 

बीसीसीआई के सूत्रों के मुताबिक राहुल का पहले से ही अंतिम-11 में खेलना तय नहीं माना जा रहा था जबकि अंतिम फैसला आने तक पांड्या भी बाहर हैं। 

इस मुद्दे पर भारतीय कप्तान विराट कोहली पहले ही अपनी राय रख चुके हैं। उन्होंने कहा है कि टीम प्रबंधन इन दोनों पर फैसले का इंतजार कर रहा है। 

कोहली ने साथ ही पांड्या-राहुल के बयान से अपना पलड़ा झाड़ा है और कहा है कि ड्रेसिंग रूम की राय इन दोनों से अलग है। 

कोहली ने यहां आस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाले वनडे मैच से पहले कहा, "हम भारतीय क्रिकेट टीम और जिम्मेदार क्रिकेट खिलाड़ी के रूप में इस प्रकार के विचारों का समर्थन नहीं करते। दोनों खिलाड़ियों को महसूस हो गया कि उन्होंने कितनी बड़ी गलत की।"

--आईएएनएस