सिडनी टेस्ट : पुजारा दोहरे शतक की ओर, भारत मजबूत स्थिति में

भारत के टिकाऊ बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा एक बार फिर आस्ट्रेलिया के लिए परेशानी का सबब बन गए हैं। उन्हीं की शानदार पारी के दम पर भारत ने यहां सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) में आस्ट्रेलिया के साथ जारी चौथे टेस्ट मैच के दूसरे दिन शुक्रवार को भोजनकाल तक अपनी पहली पारी में पांच विकेट के नुकसान पर 389 रन बना लिए हैं। 

दिन के पहले सत्र का खेल खत्म होने तक पुजारा 181 रन बनाकर खेल रहे हैं। उनके साथ ऋषभ पंत 27 रन बनाकर खड़े हुए हैं। 

दिन की शुरुआत चार विकेट पर 303 रनों के साथ करने वाली भारतीय टीम ने पहले सत्र में 86 रन अपने खाते में जोड़े और सिर्फ एक विकेट खोया। पुजारा और हनुमा विहारी ने पहले दिन के स्कोर से आगे खेलना शुरू किया। 

पुजारा ने दिन की शुरुआत उसी अंदाज में की जिस अंदाज में वह पहले दिन नाबाद लौटे थे। जोश हेजलवुड द्वारा फेंकी गई दिन की पहली गेंद पर उन्होंने शानदार कवर ड्राइव मार तीन रन बटोरे। दूसरे छोर से हनुमा विहारी बेहद आराम से खेल रहे थे। 

यह दोनों तकरीबन एक घंटे तक बिना किसी परेशानी के बल्लेबाजी करते रहे। आस्ट्रेलियाई कप्तान ने इस बीच सफलता नहीं मिलती देख दोनों छोर से गेंदबाजी में बदलाव किए। पैट कमिंस के स्थान पर नाथन लॉयन गेंदबाजी करने आए तो वहीं हेजलवुड के स्थान पर मिशेल स्टार्क को गेंद सौंपी गई। 

बदलाव आस्ट्रेलिया के लिए कारगर साबित हुए। 102वें ओवर की आखिरी गेंद पर विहारी जब लॉयन पर स्वीप मारने गए तो गेंद उनके हाथ से लग कर शॉर्ट लेग पर खड़े मार्नस लाबुस्छांग्ने के पास गई जिसे पकड़ने में उन्होंने कोई गलती नहीं की। इस पर विहारी ने रिव्यू लिया जो असफल रहा। विहारी ने 96 गेंदों का सामना कर पांच चौकों की मदद से 42 रन बनाए। 

विहारी के जाने से पहले पुजारा ने इसी ओवर की दूसरी गेंद पर लॉयन पर चौका मार अपने 150 रन पूरे किए। पुजारा इसी के साथ एससीजी पर 150 या उससे ज्यादा रन बनाने वाले भारत के पांचवें बल्लेबाज बन गए हैं। पुजारा और विहारी ने पांचवें विकेट के लिए 101 रनों की साझेदारी की। 

विहरी के बाद पंत ने विकेट पर कदम रखा। पंत को लॉयन ने थोड़ा बहुत परेशान किया, लेकिन वह लॉयन से पार पाने में सफल रहे। 

पुजारा अपने चौथे दोहरे शतक की ओर बढ़ रहे हैं। यह पुजारा का विदेशी जमीन पर पहला दोहरा शतक भी होगा। पुजारा हालांकि पहले ही विदेशी जमीन पर अपना सर्वश्रेष्ठ स्कोर हासिल कर चुके हैं। इससे पहले विदेश में उनका सर्वोच्च स्कोर 153 था जो उन्होंने 2013 में जोहान्सबर्ग में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बनाया था। 

पुजारा ने अभी तक अपनी पारी में 332 गेंदों का सामना किया है और 21 चौके लगाए हैं। पंत 42 गेंद खेल चुके हैं। उनकी पारी में दो चौके शामिल हैं।

--आईएएनएस