समीक्ष रिपोर्ट में क्रिकेट आस्ट्रेलिया पर लगाए गए गम्भीर आरोप

क्रिकेट आस्ट्रेलिया (सीए) पर सोमवार को जारी स्वतंत्र समीक्षा रिपोर्ट में बड़े आरोप लगाए गए हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि सीए ने 'हर हाल में जीत' का माहौल तैयार किया, जिसके कारण बाद में जाकर बॉल टैम्परिंग जैसे कृत्य को बढ़ावा मिला। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, एथिक्स सेंटर की ओर से की गई एक समीक्षा में सीए को अहंकारी और नियंत्रक करार दिया गया है। 

इसके अलावा, इस समीक्षा रिपोर्ट में क्रिकेट आस्ट्रेलिया पर यह भी आरोप लगाया गया है कि उसने 'हर हाल में जीत' हासिल करने वाला माहौल बना दिया था और इस कारण ही बॉल टैम्परिंग जैसा क्रिकेट को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया और इस कारण न सिर्फ आस्ट्रेलिया में बल्कि पूरी दुनिया में इस लोकप्रिय खेल जगत की छवि धूमिल हुई।

एथिक्स सेंटर की समीक्षा में यह सुझाव भी दिया गया है कि खेल की नैतिकता को शाकी निकाय द्वारा बरकरार रखे जाएं, यह सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाए जाएंगे। 

उल्लेखनीय है कि मार्च में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच के दौरान आस्ट्रेलिया टीम बॉल टैम्परिंग के कारण विवादों में घिरी थी। इसमें कप्तान स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर पर एक-एक साल का प्रतिबंध लगा था, वही कैमरून बैंक्रॉफ्ट को नौ माह के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया था। 

ऐसे में एथिक्स सेंटर द्वारा की गई समीक्षा के लिए खिलाड़ियों के साथ साक्षात्कार किया गया और सर्वेक्षण भी किए गए। 

सर्वेक्षण के दौरान एक व्यक्ति ने कहा, "जब कोई स्थिति सीए के पक्ष में नहीं होती, तो वह उस स्थिति को संभाल नहीं पाता है। ऐसे में वे धमकाने वाली रणनीति अपनाते हैं या इससे भी बुरा व्यवहार करते हैं।"

समीक्षा में कहा गया, "सीए पर सबसे बड़ा आरोप यह है कि संगठन स्वयं के अलावा किसी अन्य का सम्मान करना नहीं जानता है।"

इस समीक्षा के रिलीज होने के बाद कई खिलाड़ियों का कहना था कि वह इस खेल का सम्मान करते हैं और सभी आस्ट्रेलिया निवासियों को गौरवांन्वित करना चाहते हैं। 

--आईएएनएस

POPULAR ON IBN7.IN