जब मैच के दौरान कुलदीप यादव की इस बात से खफा हो गए धोनी

भारत के युवा स्पिनर कुलदीप यादव ने इंग्लैंड के खिलाफ पहले टी-20 मैच में पांच विकेट झटकर भारतीय जीत में अहम योगदान दिया। इससे पहले कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की जोड़ी ने दक्षिण अफ्रीका को उसी के घर पर खासा परेशान किया था। हाल ही में यह दोनों खिलाड़ी मैदान से बाहर ‘वॉट द डक’ शो के नए एपिसोड में नजर आए। इस शो के दौरान उन्होंने कई बातों का जिक्र किया। मैदान पर हमेशा शांत और कूल रहने वाले पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के बारे में बात करते हुए कुलदीप यादव ने बताया कि कैसे एक बार धोनी उन पर चिल्ला पड़े थे। दरअसल, श्रीलंका के खिलाफ दिसंबर में खेले गए मैच के दौरान कुलदीप यादव की गेंदों को बल्लेबाजों जमकर पीट रहे थे। ऐसे में धोनी ने उनके पास आकर फील्ड में कुछ बदलाव करने को कहा, इस पर कुलदीप ने जवाब देते हुए कहा कि नहीं उन्हें यही फील्ड चाहिए। कुलदीप की इस बात से धोनी गुस्से से लाल हो गए और उनकी तरफ देखकर बोले- मैं पागल हूं यहां पर 300 वनडे खेला हूं। धोनी की इस बात को सुनने के बाद कुलदीप ने उनके हिसाब से फील्ड की सेटिंग की।

फील्ड बदलते ही कुलदीप ने मैच में अपना पहला विकेट हासिल किया। इसके बाद वह दो औऱ विकेट लेने में कामयाब रहे। कुलदीप ने इंटरव्यू के दौरान कहा कि विकेट के पीछे माही भाई के होने से उनका आधा काम लगभग वह कर देते हैं। धोनी युवा गेंदबाजों के साथ अपने अनुभव का भरपूर इस्तेमाल करते हैं। यही वजह है कि आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स की टीम से खेलने वाले कई गेंदबाज आज सफल गेंदबाज के रूप में जाने जाते हैं। कुलदीप ने बताया कि वह वसीम अकरम की तरह तेज गेंदबाज डालना चाहते थे, लेकिन कोच के कहने पर वह स्पिनर बन गए।

कुलदीप के मुताबिक जब वसीम अकरम से उनकी मुलाकात हुई तो उन्होंने अपनी इच्छा उन्हें जाहिर करते हुए बताया था कि वह उनकी तरह तेज गेंदबाज बनना चाहते थे। इस पर अकरम ने उन्हें जवाब दिया कि अच्छा हुआ तुम तेज गेंदबाज नहीं बने वर्ना शायद ही हम मिल पाते।