कोहली के साथ धोनी ने ही दिया था A+ कैटेगरी का आइडिया

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने 7 मार्च को सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट की नई लिस्ट जारी की है। इस लिस्ट में ‘A+ कैटेगरी’ को भी जोड़ा गया है। इस कैटेगरी को जोड़ने का सुझाव महेंद्र सिंह धोनी और कप्तान विराट कोहली ने दिया था, लेकिन खुद धोनी इससे बाहर हो गए। दरअसल, भारत के पूर्व हेड कोच अनिल कुंबले ने भुगतान संरचना की पहल की थी। इसके बाद उसे क्रिकेट प्रशासकीय समिति (सीओए) के सामने रखा गया। जब कुंबले ने इस पद को छोड़ा, तो उसके बाद सीएओ ने धोनी, कोहली, रोहित शर्मा और रवि शास्त्री के साथ बैठक की, जिसके बाद सिफारिश मान ली गई।

सीएओ चीफ विनोद राय ने धोनी को इस कैटेगरी से बाहर करने की वजह स्पष्ट करते हुए बताया, “इस श्रेणी में उन खिलाड़ियों को शामिल किया गया है, जो तीनों फॉर्मेट में खेलते हों और टॉप-10 रैंकिंग में शामिल हों।” बीसीसीआई द्वारा जारी केंद्रीय अनुबंध की नई सूची में जगह पाने वाले खिलाड़ियों के नाम इस प्रकार हैं…

पुरुष टीम:

 

ग्रेड ए+ (सात करोड़ रुपए सालाना) : विराट कोहली, रोहित शर्मा, शिखर धवन, भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह।

ग्रेड ए (पांच करोड़ रुपए सालाना) : महेंद्र सिंह धोनी, रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे और ऋद्धिमान साहा।

ग्रेड बी (तीन करोड़ रुपए सालाना) : केएल राहुल, उमेश यादव, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, हार्दिक पंड्या, इशांत शर्मा और दिनेश कार्तिक।

ग्रेड सी (एक करोड़ रुपए सालाना) : केदार जाधव, मनीष पांडे, अक्षर पटेल, करुण नायर, सुरेश रैना, पार्थिव पटेल और जयंत यादव।

महिला टीम:

ग्रेड ए (50 लाख रुपए सालाना) : मिताली राज, झूलन गोस्वामी, हरमनप्रीत कौर और स्मृति मंधाना।

ग्रेड बी (30 लाख रुपए सालाना) : पूनम यादव, वेदा कृष्णमूर्ति, राजेश्वरी गायकवाड़, एकता बिष्ट, शिखा पांडे और दीप्ति शर्मा।

ग्रेड सी (10 लाख रुपए सालाना) : मानसी जोशी, अनुजा पाटिल, मोना मेशराम, नुजहत परवीन, सुषमा वर्मा, पूनम राउत, जेमिमा रोड्रिग्स, पूजा वस्त्राकर और तानिया भाटिया।

बता दें कि भारतीय महिला क्रिकेट में तीन ग्रेड हैं, जबकि पुरुष टीम को चार ग्रेड में विभाजित किया गया है। महिला खिलाड़ियों में मिताली राज, झूलन गोस्वामी, टी20 टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर और स्मृति मंधाना को ए ग्रेड में शामिल किया गया है।

POPULAR ON IBN7.IN