टेस्ट टीम कप्तान बनने का सपना सच हुआ : वाटसन
Saturday, 23 March 2013 08:52

  • Print
  • Email

दो सप्ताह तक टीम से बाहर रहने वाले शेन वाटसन का आस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम की कमान संभालने का सपना पूरा हो गया। उन्हें शुक्रवार को यहां भारत के खिलाफ शुरू हुए चौथे टेस्ट मैच के लिए चोटिल माइकल क्लार्क के स्थान पर टीम का कप्तान बनाया गया है। आस्ट्रेलिया टीम के 44वें टेस्ट कप्तान बने वाटसन ने कहा कि यह उनके लिए सम्मान की बात है। पुराने पीठ दर्द से उबरने में विफल रहने के कारण क्लार्क को टीम से बाहर होना पड़ा। विकेटकीपर मैथ्यू वेड को उपकप्तान नियुक्त किया गया है।

वाटसन (31 वर्ष) ने एक बयान में कहा, "अपने देश का नेतृत्व करने के लिए कहा जाना वास्तव में सपना सच होने जैसा है। मैं कुछ अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय मैचों की कप्तानी कर चुका हूं, लेकिन टेस्ट मैचों में कप्तानी करने के लिए कहा जाना सर्वश्रेष्ठ सम्मान है।"

उन्होंने कहा, "यह जाहिर तौर पर बहुत निराशाजनक है कि माइकल क्लार्क नहीं खेल रहे हैं, हम उनकी बल्लेबाजी और नेतृत्व की कमी महसूस करेंगे, लेकिन मैं अगले पांच दिनों की चुनौती और जिम्मेदारी पर ध्यान दे रहा हूं।"

मोहाली में अनुशासन तोड़ने की वजह से उन्हें और तीन अन्य खिलाड़ियों को तीसरे टेस्ट मैच के लिए टीम से बाहर कर दिया गया था और वह गुस्से में भारत से वापस लौट गए थे। यहां तक कि वाटसन घर वापसी के बाद सन्यास लेने पर भी विचार कर रहे थे।

इसके अलावा वह क्रिकेट आस्ट्रेलिया (सीए) के उच्च प्रदर्शन प्रबंधक पैट होवार्ड से भी नाराज थे, जिन्होंने टिप्पणी की थी कि वाटसन कभी-कभार ही टीम के खिलाड़ी होते हैं।

बाद में वाटसन और होवार्ड ने मामले को सुलझा लिया और हरफनमौला दिल्ली टेस्ट के लिए टीम में वापसी करने को राजी हो गए। वाटसन यह भी स्वीकार करते हैं कि बीते दो सप्ताह उनके लिए काफी उतार-चढ़ाव वाले रहे।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss