Print this page

आईपीएल-6 : राजस्थान को हराकर मुम्बई फिर शीर्ष पर
Thursday, 16 May 2013 17:07

मुंबई इंडियंस ने अपने हरफनमौला खेल के दम पर बुधवार को वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए लीग के इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के छठे संस्करण 66वें और अपने 15वें मुकाबले में 2008 की चैम्पियन राजस्थान रॉयल्स को 14 रनों से हरा दिया। इस तरह मुम्बई ने घेरलू मैदान पर अपनी श्रेष्ठता साबित करते हुए एक बार फिर अंक तालिका में पहला स्थान हासिल कर लिया। मुम्बई द्वारा दिए गए 167 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी राजस्थान की टीम निर्धारित 20 ओवरों में सात विकेट पर 151 रन ही बना सकी। स्टुअर्ट बिन्नी 37 रनों पर नाबाद लौटे जबकि केवन कूपर ने नाबाद सात रन बनाए। मुम्बई की ओर से जानसन और धवल कुलकर्णी ने दो-दो विकेट लिए जबकि हरभजन, मलिंगा और ओझा को एक-एक सफलता मिली। 59 रनों की तेज पारी खेलने वाले मुम्बई के बल्लेबाज आदित्य तारे को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

मुम्बई ने 15 में से 11 मैच जीते हैं जबकि चार में उसकी हार हुई है। दूसरी ओर, राजस्थान ने भी 15 मैच खेल हैं, जिनमें से 10 में उसकी जीत हुई है। चेन्नई सुपर किंग्स ने मंगलवार को दिल्ली डेयरडेविल्स को हराते हुए 22 अंकों के साथ मुम्बई को पहले स्थान से हटा दिया था लेकिन अब मुम्बई ने 22 अंक और बेहतर नेट रन रेट के साथ फिर से अपना खोया स्थान हासिल कर लिया है। मुम्बई, चेन्नई और राजस्थान की टीमें पहले ही प्लेऑफ दौर में पहुंच चुकी हैं।

राजस्थान की शुरुआत अच्छी नहीं रही। उसने 28 रन के कुल योग पर ही अपने चार अहम विकेट गंवा दिए। कप्तान राहुल द्रविड़ (4) पांच रन के कुल योग पर मिशेल जानसन की गेंद पर दिनेश कार्तिक के हाथों लपके गए।

इसके बाद 22 रन के कुल योग पर जेम्स फॉल्कनर (12) भी पवेलियन लौट गए। संजू सैमसन (4) को जानसन ने 26 रन के कुल योग पर पवेलियन की राह दिखाई जबकि 28 रन के कुल योग पर अजिंक्य रहाणे (4) का विकेट गिरा।

शेन वॉटसन (19) और बिन्नी ने पांचवें विकेट के लिए 30 रन जोड़े। वॉटसन 16 गेंदों पर दो छक्के लगाने के बाद प्रज्ञान ओझा की गेंद पर कीरन पोलार्ड के हाथों लपके गए। उस समय कुल योग 58 रन था।

वॉटसन का स्थान लेने आए दिशांत याज्ञनिक (10) भी ज्यादा कुछ नहीं कर सके और 88 रन के कुल योग पर हरभजन सिंह की गेंद पर बोल्ड हुए। याज्ञनिक ने 14 गेंदों पर एक चौका लगाया। बिन्नी और याज्ञनिक के बीच 30 रनों की साझेदारी हुई।

इसके बाद ब्रैड हॉज (39) ने बिन्नी के साथ मिलकर सातवें विकेट के लिए 56 रनों की साझेदारी करते हुए राजस्थान की उम्मीदों को जिंदा रखने का प्रयास किया। हॉज पारी के अंतिम ओवर की पहली गेंद पर लसिथ मलिंगा द्वारा बोल्ड कर दिए। हॉज ने 27 गेंदों पर सात चौके लगाए।

अंतिम ओवरों में राजस्थान को जीत के लिए 23 रनों की दरकार थी लेकिन वह एक विकेट गंवाकर नौ रन ही बना सकी। बिन्नी ने 29 गेंदों पर तीन चौके और एक छक्का लगाया।

इससे पहले, मुम्बई ने टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवरों में आठ विकेट पर 166 रन बनाए।

मुम्बई का पहला विकेट 25 रन के कुल योग पर चौथे ओवर की दूसरी गेंद पर गिरा। ग्लेन मैक्सवेल (23) को शेन वाटसन की गेंद पर पगबाधा करार दिया गया।

मुम्बई के लिए दूसरे विकेट की साझेदारी में तारे ने दिनेश कार्तिक (21) के साथ 76 रन जोड़े। कार्तिक को प्रवीण ताम्बे ने संजू सैम्सन के हाथों कैच आउट कराया।

कार्तिक के जाने के बाद मुम्बई की मध्यक्रम की पारी कुछ खास नहीं कर सकी और तारे के 13वें ओवर की चौथी गेंद पर वाटसन के हाथों कैच आउट होने के बाद वे सिर्फ अपने रन औसत को बरकरार रख सके।

तारे ने 37 गेंदों में आठ चौके तथा एक छक्का लगाया। मुम्बई आखिरी पांच ओवरों में पांच विकेट गंवाकर 34 रन ही बना सका।

राजस्थान के लिए फॉकनर तथा वॉटसन ने दो-दो विकेट हासिल किए तथा ताम्बे और केविन कूपर को एक-एक विकेट मिला।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।