हम पहली गेंद से आगे थे, पीछे मुड़कर नहीं देखा : रोहित शर्मा
Wednesday, 11 November 2020 09:49

  • Print
  • Email

दुबई: मुंबई इंडियंस ने आईपीएल-13 का खिताब मंगलवार को अपने नाम किया। यह मुंबई का पांचवां आईपीएल खिताब है और यह पांचों खिताब उसने रोहित शर्मा की कप्तानी में जीते हैं। दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में दिल्ली कैपिटल्स को पांच विकेट से हराने के बाद रोहित ने कहा कि उनकी टीम पहली गेंद से मैच में थी और वहां से उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

ट्रेंट बाउल्ट ने मैच की पहली ही गेंद पर दिल्ली के मार्कस स्टोयनिस को पवेलियन भेज दिया। दिल्ली शुरुआती झटकों से अच्छी तरह उबर नहीं सकी और 20 ओवरों में सात विकेट खोकर 156 रन ही बना पाई। मुंबई ने रोहित की 68 रनों की पारी के दम पर यह लक्ष्य 18.4 ओवरों में पांच विकेट खोकर हासिल कर लिया।

मैच के बाद रोहित ने कहा, "पूरे सीजन जिस तरह से चीजें रहीं उससे मैं काफी खुश हूं। हमने शुरू में कहा था कि हम जीत को एक आदत बनाने चाहते हैं और आप इससे ज्यादा कुछ नहीं मांग सकते। हम पहली ही गेंद से आगे थे और हमने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।"

रोहित ने टीम की सफलता का श्रेय उन लोगों को भी दिया जिन्होंने पर्दे के पीछे काम किया।

दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा, "काफी सारा श्रेय उन लोगों को भी जाता है जिन्होंने पर्दे के पीछे काम किया। हमारा काम आईपीएल की शुरुआत से काफी पहले शुरू हो जाता है। हम विश्लेषण करते हैं कि क्या गलती हुई, कहां सुधार करने की जरूरत है।"

अपनी कप्तानी को लेकर रोहित ने कहा, "आपको शांत रहने के लिए सही संतुलन चाहिए होता है। मैं वो कप्तान नहीं हूं जो किसी के पीछे डंडा लेकर भागूं। आप खिलाड़ियों को आत्मविश्वास देकर ही बेहतर कर सकते हैं। अगर आप हमारी बल्लेबाजी देखेंगे तो हमारे पास केरन पोलार्ड, हार्दिक पांड्या और क्रुणाल पांड्या हैं, हमने उन्हें पूरे सीजन रोटेट किया। हमारी गेंदबाजी में भी इसी तरह की गहराई है।"

इस मैच में रोहित ने टीम में लगातार खेलते आ रहे लेग स्पिनर राहुल चहर को बाहर रख ऑफ स्पिनर जयंत यादव को खेलाया। रोहित ने इस पर कहा, "चहर का बाहर जाना दुर्भाग्यपूर्ण, लेकिन रणनीतिक तौर पर हमें जयंत चाहिए थे। जब आप अपनी अंतिम-11 में बदलाव करते हो तो आप उसे बेहतर ही बनाना चाहते हो। आपको यह करना चाहिए वो भी बिना किसी के आत्मविश्वास को कमजोर करते हुए।"

रोहित ने प्रशंसकों का शुक्रिया अदा करते हुए कहा, "हमने प्रशंसकों के बिना खेलने की कोशिश की, दुर्भाग्यवश वो यहां नहीं थे, लेकिन उनका समर्थन काफी मायने रखता है। प्रशंसक इस गेम को हमारे लिए खास बनाते हैं। वानखेड़े में खेलना मिस किया।"

--आईएएनएस

एकेयू/एसजीके

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss