घावरी ने भारत के 2013 के बाद से आईसीसी ट्रॉफी न जीतने का किया बचाव
Tuesday, 26 May 2020 16:39

  • Print
  • Email

नई दिल्ली: भारतीय टीम के पूर्व तेज गेंदबाज कर्सन घावरी ने भारत के 2013 के बाद से कोई भी आईसीसी ट्रॉफी न जीतने का बचाव किया है। उन्होंने साथ ही टीम की निरंतरता की तारीफ करते हुए कहा कि टीम लगातार फाइनल और सेमीफाइनल में पहुंच रही है यही बड़ी बात है।

घावरी ने कहा है कि देश के लोग ट्रॉफी जीतने के इतने आदी हो गए हैं कि वह सेमीफाइनल और फाइनल में जगह बनाने को कुछ समझते नहीं हैं।

भारत ने 2013 में आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी जीती थी, लेकिन इसके बाद वह 2014 टी-20 विश्व कप के फाइनल में हारी और 2016 टी-20 विश्व कप के सेमीफाइनल में से बाहर हो गई। आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी-2017 में फाइनल में उसे पाकिस्तान के हाथों हार मिली। 2019 विश्व कप में टीम सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से हार कर लौट आई।

घावरी ने हिंदुस्तान टाइम्स को दिए इंटरव्यू में कहा, "लेकिन भारतीय टीम नॉकआउट्स तक पहुंच रही है, है ना? देखिए, बीते कुछ वर्षो से, 1983 से, हम कई बार फाइनल में पहुंचे हैं। हमने कई ट्रॉफियां जीती हैं।"

उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि ट्रॉफी जीतने की जो आदत हमने बनाई है उससे हुआ यह है कि जब तक हमारे हाथ में ट्रॉफी नहीं आती तो हमें सुकून नहीं मिलता। हम इस बात को नजरअंदाज कर देते हैं कि हमारी टीम सेमीफाइनल या फाइनल में पहुंची है।"

उन्होंने कहा, "सभी नौ टीमों से खेलना और विश्व कप में ग्रुप में शीर्ष पर रहना बहुत बड़ी बात है।"

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss