चेन्नई में खेलने से ओस से निपटने में मदद मिली : चहर
Monday, 11 November 2019 17:25

  • Print
  • Email

नागपुर: निर्णायक मुकाबले में ऐतिहासिक प्रदर्शन करने वाले दीपक चहर ने कहा है कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में चेन्नई सुपर किंग्स के घरेलू मैदान पर खेलने के कारण उन्हें ओस की समस्या से निपटने में मदद मिली। दीपक ने विदर्भ क्रिकेट संघ (वीसीए) स्टेडियम में खेले गए तीसरे और निर्णायक मुकाबले में हैट्रिक सहित सात रन देकर छह विकेट लिए और भारत को 2-1 से जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई।

मैच के बाद चहर ने टीम के साथी लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल के कार्यक्रम चहल टीवी पर कहा, "चेन्नई में खेलने से मुझे पता चला कि ओस और पसीने से कैसे निपटना है। कैसे अपने हाथ साफ रखने हैं। कई बार, आपको सूखी मिट्टी हाथ पर रगड़ना पड़ता है और उसके बाद गेंदबाजी करनी होती है (ताकि आपके हाथ से गेंद छूटे नहीं)।"

चहर से जब पूछा गया कि हवा में गेंद ज्यादा मूव नहीं कर रही थी और न ही स्विंग कर रही थी तब उनकी रणनीति क्या थी? तो उन्होंने कहा, "वीसीए स्टेडियम में साइड की बाउंड्रीज काफी बड़ी हैं। हमारी रणनीति थी कि हम बल्लेबाज को साइड में शॉट खेलने के लिए मजबूर करेंगे। मैं साथ ही अपनी गेंद की गति में बदलाव भी करना चाहता था क्योंकि ओस थी और गेंद को पकड़ना मुश्किल हो रहा था।"

चहर ने 18वें ओवर की आखिरी गेंद पर एक विकेट लिया और फिर 20वें ओवर की पहली दो गेंद पर दो विकेट लेकर अपनी हैट्रिक पूरी की।

उन्होंने कहा, "मुझे अंत में पता चला कि मैंने हैट्रिक ले ली है चूंकि मैंने अपना पहला विकेट अपने पिछले ओवर की आखिरी गेंद पर लिया था। आप घर पर बैठ कर सपना भी देखोगे तो आप यह नहीं सोचोगे कि चार ओवर में सात रन देकर छह विकेट लेंगे।"

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss