'2 साल में नंबर-1 बन सकता है आस्ट्रेलिया'
Tuesday, 26 March 2013 20:38

  • Print
  • Email

पर्थ, 26 मार्च (आईएएनएस)| आस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के कोच मिकी अर्थर ने कहा है कि उनकी टीम को टेस्ट में शीर्ष पर काबिज होने के लिए दो साल का समय लगेगा। साथ ही उन्होंने कहा कि भारत दौरा उनके कोचिंग करियर का सबसे कठिन दौरा था। गौरतलब है कि भारत ने हाल ही हुई टेस्ट श्रंखला में आस्ट्रेलिया को 4-0 से करारी मात दी। इससे पहले इंग्लैंड ने सन् 1978-79 में एशेज में बड़े अंतर से आस्ट्रेलिया को 1-5 से हराया था।

आस्ट्रेलिया के एक समाचार पत्र 'हेराल्ड सन' ने अर्थर के हवाले से लिखा, "मैं सार्वजनिक तौर पर यह कहना चाहता हूं कि यह मेरे कोचिंग करियर का सबसे कठिन दौरा था। भारत में जाकर खेलना और जीतना काफी चुनौतीपूर्ण है। मैंने और माइकल क्लार्क ने खेल के लिए काफी ऊंचे मानक तय किए थे।"

"मुझे लगता है कि हम आगे बढ़ चुके हैं और सही दिशा में जा रहे हैं। उम्मीद है कि आस्ट्रेलियाई टीम की बेहतरी के लिए यह नींव साबित होगी। हम कई बार यह कह चुके हैं कि हम आराम से आगे बढ़कर विश्व में तीसरे स्थान पर चल सकते हैं। लेकिन हम नंबर एक बनना चाहते हैं। इसके लिए हमने नींव रख दी है। हमें विश्वाश है कि अगले 24 महीनों में हम नंबर एक पर काबिज होंगे।"

अर्थर ने क्लार्क और शेन वॉटसन के बीच मतभेदों की बात से भी इंकार किया।

उन्होंने कहा, " यह काफी मजाकिया धारणा है। क्लार्क और वॉटसन दोनों अलग-अलग तरह का व्यक्तित्व रखते हैं। हमारी टीम एकजुट है। खिलाड़ी कड़ी मेहनत कर रहे हैं। हमारे पास ऐसे खिलाड़ियों का समूह है जो आस्ट्रेलिया को विश्व की सबसे बेहतरीन टीम बना सकता है।"

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

 

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss