नई दिल्ली: भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने कहा कि उन्हें कप्तान विराट कोहली के गुस्से से डर लगता है। पंत ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में अपनी टीम दिल्ली कैपिटल्स की अधिकारिक वेबसाइट पर एक वीडियो में कहा, "मैं किसी से नहीं डरता लेकिन विराट भैया के गुस्से से डर लगता है।"

हालांकि पंत ने साथ ही इस बात को भी माना कि कोहली केवल गलती करने पर ही गुस्सा होते हैं।

पंत ने कहा, "अगर आप सबकुछ सही कर रहे हो तो वह (कोहली) गुस्सा क्यों होगा। लेकिन अगर आप गलती करते हो और कोई आपसे नाराज हो जाता है। यह अच्छा है क्योंकि आप अपनी गलतियों से ही सीख लेते हो।"

पंत ने खेल के तीनों फॉर्मेट में कुछ अच्छी पारियां खेली हैं और महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास लेने के बाद उनकी जगह लेने को तैयार हैं।

हाल में कोहली ने पंत के ऊपर तब गुस्सा जाहिर किया था जब पंत ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे वनडे के दौरान धोनी की तरह की स्टंपिंग के प्रयास में एक रन गंवा दिया था।

--आईएएनएस

Published in क्रिकेट

दुबई: भारतीय कप्तान विराट कोहली और उपकप्तान रोहित शर्मा आईसीसी ताजा वनडे विश्व रैंकिंग में बल्लेबाजों की सूची में क्रमश : पहले और दूसरे स्थान पर कायम हैं। आस्ट्रेलिया से सीरीज हारने के बावजूद कोहली और रोहित के रैंकिंग में कोई बदलाव नहीं हुआ है। कोहली और रोहित ने आस्ट्रेलिया के साथ खेले गई पांच मैचों की सीरीज में क्रमश : 310 और 202 रन बनाए थे।

केदार जाधव 11 स्थानों की छलांग लगाकर करियर की सर्वश्रेष्ठ 24वें पायदान पर पहुंच गए हैं।

दक्षिण अफ्रीका के क्विंटन डीकाक ने श्रीलंका के पांच मैचों की वनडे सीरीज में मिली 5-0 की जीत में 353 रन बनाए थे, जिसकी बदौलत अब वह चौथे पायदान पर पहुंच गए हैं। कप्तान फॉफ डु प्लेसिस भी पांचवें नंबर पर पहुंच गए हैं।

गेंदबाजी में भारत के यॉर्करमैन जसप्रीत बुमराह पहले, न्यूजीलैंड के ट्रेंट बाउल्ट दूसरे और अफगानिस्तान के राशिद खान तीसरे नंबर पर बने हुए हैं।

दक्षिण अफ्रीका के लेग स्पिनर इमरान ताहिर सात पायदान ऊपर चढ़कर चौथे स्थान पर पहुंच गए हैं।

--आईएएनएस

Published in क्रिकेट

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली, महान सचिन तेंदुलकर से बेहतर हैं या नहीं, इस पर बहस शायद ही कभी खत्म हो और इसी बीच इस मामले में सवाल पूछे जाने पर आस्ट्रेलिया के पूर्व महान लेग स्पिनर और मौजूदा समय में राजस्थान रॉयल्स के ब्रांड एम्बेसडर शेन वार्न ने मजाकिया अंदाज में कहा कि वह इन दोनों ही भारतीय बल्लेबाजों के सामने गेंदबाजी नहीं करना चाहते।

वार्न ने आईपीएल को लेकर राजस्थान टीम की तैयारियों के दौरान आईएएनएस से खास बातचीत में कहा कि उनका मानना है कि विव रिचर्डस सर्वश्रेष्ठ एकदिवसीय बल्लेबाज थे और कोहली के बारे में वह राय तब बनाएंगे जब उनका (कोहली) का करियर समाप्त हो जाएगा।

वार्न ने कहा, "90 के दशक के मध्य में सचिन और ब्रायन लारा का क्लास बाकी सबसे ऊपर था। बाद में उनका करियर ऐसा नहीं था लेकिन 1994-95 से चार से पांच साल के दौरान इन दोनों का क्लास सबसे ऊपर था।"

उन्होंने कहा, "विराट और सचिन पूरी तरह से दो अलग-अलग खिलाड़ी हैं, लेकिन वे महान हैं। मैं उन्हें गेंदबाजी नहीं करना चाहूंगा (बातचीत में यहां वार्न ने जोर का ठहाका लगाया)। मेरे लिए दोनों बहुत अच्छे खिलाड़ी हैं, मैं किसी एक को नहीं चुन सकता।"

वार्न ने कहा, "मेरे लिए, हम सभी जानते हैं कि डॉन ब्रेडमैन सबसे अच्छे बल्लेबाज थे। इस पर सर्वसम्मति है। इसके बाहर, मेरे लिए विव रिचर्डस सबसे अच्छा खिलाड़ी थे जिन्हें मैंने अब तक देखा। मैं किसी और को गेंदबाजी करना पसंद करूंगा।"

उन्होंने कहा, "मेरे लिए सबसे अच्छे वनडे बल्लेबाज विव और विराट होंगे। विराट का रिकॉर्ड तो पागलपन भरा है, बताता है कि वह कितने अच्छे हैं। एक खिलाड़ी, जब वह खेल रहा होता है तो उसे जज करना मुश्किल होता है।"

वार्न का मानना है कि स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर के वापस आने से आस्ट्रेलियाई टीम और ज्यादा मजबूत होगी।

पूर्व लेग स्पिनर ने कहा, "स्मिथ एक बहुत बड़ा खिलाड़ी है। यदि आप पिछले साल मार्च के समय को देखें और कहें कि दुनिया के शीर्ष पांच खिलाड़ी कौन थे तो आप कहेंगे, कोहली, अब्राहम डिविलियर्स, स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर और केन विलियमसन'।"

उन्होंने कहा, "तो, दुनिया के शीर्ष पांच खिलाड़ियों में से दो आस्ट्रेलिया के थे और उन्हें खोना टीम के लिए एक बड़ा नुकसान था। स्मिथ के मामले में यही नुकसान राजस्थान रॉयल्स का भी हुआ।"

इस साल आईपीएल के बाद विश्व कप होने हैं और अगर भारत को सही मायने में खिताब का दावेदार बनना है तो कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की जोड़ी को अच्छा प्रदर्शन करना होगा।

वार्न ने कहा, "मैंने और कुलदीप ने जो कुछ भी बातें की हैं, मैं उसे नहीं बताऊंगा। अनिल कुंबले ने कुछ साल पहले मुझे उनसे सबसे पहले मिलवाया था। इसके बाद आस्ट्रेलिया में रवि शास्त्री और कोहली ने मुझसे पूछा कि क्या मैं उनसे बात करना चाहूंगा।"

उन्होंने कहा, "चहल ने खुद मुझे मैसेज किया था और कहा था कि क्या हम एक सेशन कर सकते हैं और मैंने कहा जरूर। हमने काम करना शुरू कर दिया।"

वार्न ने कहा, "जब आप किसी की थोड़ी सी मदद करते हैं और फिर आप उसे अच्छा प्रदर्शन करते देखते हैं, तो यह फायदेमंद होता है। मैं हमेशा किसी भी स्पिनर की मदद करने के लिए तैयार रहता हूं। मैंने चहल के साथ कुछ सत्र भी किए हैं।"

--आईएएनएस

Published in क्रिकेट

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम में नंबर-4 को लेकर असमंजस बनी हुई है, जिसे मई में होने वाले विश्व कप से पहले सुलझाना जरूरी बन गया है।

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने बुधवार को कहा था कि विश्व कप को लेकर अंतिम-11 लगभग तय है बस एक स्थान को लेकर माथापच्ची होनी है। उन्होंने हालांकि यह नहीं बताया था कि वह किस स्थान की बात कर रहे हैं, लेकिन यह बात किसी से छुपी नहीं है कि यह मामला नंबर-4 का है।

टीम के कोच रवि शास्त्री ने भी इस बात के संकेत दिए थे कि कोहली खुद चौथे नंबर पर खेल सकते हैं।

इस स्थान के लिए अंबाती रायडू अभी तक सबसे सफल साबित हुए हैं। रायडू ने चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 14 पारियां खेलीं हैं और एक शतक तथा दो अर्धशतक जमाए हैं। रायडू को भारतीय टीम ने हालांकि आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए आखिरी दो वनडे मैचों में नहीं खेलाया था।

मोहाली में खेले गए चौथे वनडे में कोहली नंबर-4 पर आए थे तो वहीं दिल्ली में खेले गए आखिरी वनडे में पंत को मौका मिला था। टीम प्रबंधन द्वारा किए गए यह दोनों प्रयोग विफल रहे थे।

विश्व कप से पहले खेले गए आखिरी मैच में भी इस समस्य का समाधान नहीं निकल सका कि चौथे नंबर पर भारत रायडू, लोकेश राहुल,श्रेयस अय्यर और कोहली में से किसे देखता है।

आस्ट्रेलिया के पूर्व बल्लेबाज मैथ्यू हेडन ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा कि उनके हिसाब से रायडू इस नंबर के लिए सही शख्स हैं और वह इस बात से हैरान हैं कि भारत रायडू के होते हुए अन्य विकल्पों पर सोच रहा है।

हेडन ने कहा, "मेरे लिए रायडू उपयुक्त हैं। मैं विश्वास नहीं कर सकता कि भारत इस पर सवाल कर रही है। वह लंबे समय से अच्छी फॉर्म में हैं। मैं नहीं जानता कि वह सवाल क्यों कर रहे हैं, शायद इसलिए क्योंकि विश्व कप से पहले आपको कुछ बात करनी है। मुझे नहीं लगता कि राहुल उस जगह पर खेल पाएंगे। उनका समय आएगा और अगर कुछ होता है तो वह स्टैंड वाई ओपनर के तौर पर खेल सकते हैं।"

कॉमेंटेटर और विशेषज्ञ हर्षल भोगले ने भी इस बात को मानने से इनकार कर दिया है कि कोहली अपने बल्लेबाजी क्रम में बदलाव करेंगे। उनका मानना है कि विश्व कप से पहले इस जगह का भरा न जाना भारतीय टीम के लिए चिंता का विषय है।

उन्होंने कहा, "यह थोड़ा चौंकाने वाली बात है कि हम विश्व कप से पहले अपना अंतिम मैच खेल रहे हैं और इस बात को लेकर आश्वस्त नहीं हैं कि कौन नंबर-4 पर बल्लेबाजी करेगा। हाल ही में खराब फॉर्म से पहले लंबे समय तक लगा था कि रायडू ने यह स्थान पक्का कर लिया है। हां, राहुल एक विकल्प हैं लेकिन उन्होंने अभी तक ज्यादा कुछ हासिल नहीं किया है। और इस पर रायडू कह सकते हैं कि मैंने क्या गलत किया।"

कोहली ने बुधवार को खेले गए मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि टीम प्रबंधन अंतिम-11 को लेकर आश्वस्त है और सिर्फ एक स्थान को लेकर ही थोड़ी बहुत चिंता है।

कोहली ने कहा, "एक टीम के तौर पर संयोजन के तौर पर, हम पूरी तरह से तैयार हैं, ज्यादा से ज्यादा एक बदलाव हो सकता है। हमारी टीम संतुलित है। हार्दिक पांड्या टीम में वापसी करेंगे। उनके आने से बल्लेबाजी को गहराई मिलेगी और गेंदबाजी विकल्प भी मिलेगा। अंतिम-11 क्या होगी वो हमारे दिमाग में साफ है।"

--आईएएनएस

 

Published in क्रिकेट

रांची: क्रिकेट आस्ट्रेलिया के पास अगर 'पिंक टेस्ट' और क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका के पास 'पिंक वनडे' है तो भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड शुक्रवार को रांची में खेले जा रहे तीसरे वनडे मैच से एक नई मुहिम शुरू कर रही है जिसके तहत वह हर साल एक मैच में भारतीय सेना जैसी कैप पहन कर उतरेगी। इसके पीछे मकसद सेना का सम्मान और उसके द्वारा दिए गए बलिदान को श्रद्धांजलि देना है।

इस मुहिम की पहल लेफ्टिनेंट कर्नल महेंद्र सिंह धोनी और भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने की है।

यह मुहिम भारत और आस्ट्रेलिया के बीच खेली जा रही पांच मैचों की सीरीज के तीसरे वनडे से शुरू हो रही है और अब हर साल भारतीय टीम अपने घर में एक मैच में सेना जैसी कैप पहन कर मैदान पर उतरेगी।

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने आईएएनएस से कहा कि धोनी का सेना के प्रति प्यार जगजाहिर है।

उन्होंने कहा, "यह बहुत अच्छी बात है कि इस वार्षिक कार्यक्रम की शुरुआत लेफ्टिनेंट कर्नल धोनी के गृहनगर से हो रही है क्योंकि यह कोई दिखावे के लिए नहीं है बल्कि एक ईमानदार मुहिम है।"

अधिकारी ने कहा, "मेरे लिए, सुरक्षा बलों के साथ एकजुटता दर्शाती आज की सांकेतिक मुहिम बीसीसीआई के दान देने से ज्यादा सशक्त है।"

इस विचार को तफ्सील से बताते हुए अधिकारी ने कहा, "इस विचार के बीच मकसद सेना और उनके परिवार को श्रद्धांजलि देना है। साथ ही देशवासियों को राष्ट्रीय रक्षा कोष में सहयोग देने के लिए प्रेरित करना है ताकि शहीदों के बच्चों की शिक्षा का खर्च उठाया जा सके।"

करीबी सूत्रों ने बताया कि धोनी और कोहली ने इसके लिए खेल उत्पाद बनाने वाली कंपनी नाइकी के साथ मिलकर काम किया है।

अधिकारी ने कहा, "यह दोनों हमारे साझेदार नाइकी के साथ मिलकर बीते छह महीनों से इस मुहिम पर काम कर रहे थे।"

--आईएएनएस

Published in क्रिकेट

नागपुर: आस्ट्रेलिया के खिलाफ यहां खेले गए दूसरे वनडे मैच में आठ रनों से मिली रोमांचक जीत के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने यॉर्करमैन तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को चैम्पियन बताया है और कहा है कि टीम में बुमराह के रहने से वह खुश हैं। इस जीत के बाद भारत ने पांच मैचों की वनडे सीरीज में 2-0 बढ़त बना ली है। भारत ने इस जीत के साथ ही वनडे में अपनी अबतक की 500वीं जीत दर्ज कर ली। आस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत की 133 मैचों में यह 49वीं जीत है।

कोहली ने मैच के बाद कहा, "विजय (शंकर) ने गेंद को स्टंप-टू-स्टंप रखा और यही फॉमूर्ला काम भी आया। रोहित से बात करना हमेशा अच्छा रहता है। धोनी तो साथ में रहते ही हैं। हम गेंदबाजों से भी बात करते हैं। वे सब एक सा सोचते हैं। बुमराह ने जिस तरह से एक ओवर में दो विकेट निकाले और मैच में हमारी वापसी कराई वह शानदार रहा। बुमराह एक चैम्पियन हैं और उन्हें अपनी टीम में पाकर मैं बहुत खुश हूं।"

बुमराह ने मैच में 10 ओवर में 29 रन देकर एक ही ओवर में दो विकेट लिए।

भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 48.2 ओवर में 250 रनों का स्कोर बनाया और फिर आस्ट्रेलिया को 49.3 ओवर में 242 रनों पर रोक दिया।

भारतीय कप्तान ने कहा, "जब मैं बल्लेबाजी के लिए आया तो परिस्थितियां मुश्किल थीं। मेरे पास संयम के साथ बल्लेबाजी करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था। विजय ने अच्छी बल्लेबाजी कीए लेकिन वह दुर्भाग्वश वह रन आउट हो गए। हमने केदार जाधव और धोनी का विकेट भी जल्द गंवा दिया।"

आस्ट्रेलिया को आखिरी छह गेंदों पर जीत के लिए 11 रन बनाने थे लेकिन शंकर ने इस ओवर में दो विकेट लेकर भारत को रोमांचक जीत दिला दी।

कोहली ने कहा, "मैं 46वें ओवर में विजय से गेंदबाजी कराने की सोच रहा था। इसके लिए मैंने रोहित और धोनी से बात की लेकिन उन्होंने शमी और बुमराह पर भरोसा करने के लिए कहा। उनका कहना था कि अगर बुमराह और शमी एक-दो विकेट और निकाल लेते हैं तो हम मैच में और हावी हो जाएंगे और ठीक ऐसा ही हुआ।"

--आईएएनएस

Published in क्रिकेट

नागपुर: भारत ने गेंदबाजों की कसी गेंदबाजी के दम पर विदर्भ क्रिकेट संघ (वीसीए) स्टेडियम में मंगलवार को खेले गए दूसरे रोमांचक वनडे मैच में आस्ट्रेलिया को आठ रनों हरा दिया। इस जीत के बाद भारत ने पांच मैचों की वनडे सीरीज में 2-0 बढ़त बना ली है।

भारत ने इस जीत के साथ ही वनडे में अपनी अबतक की 500वीं जीत दर्ज कर ली। आस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत की 133 मैचों में यह 49वीं जीत है।

वहीं, इस मैदान पर भारत ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना अजेय क्रम बरकरार रखा है। दोनों टीमों के बीच यह अबतक का चौथा मैच था और सभी में भारत ने जीत दर्ज की है।

भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 48.2 ओवर में 250 रनों का स्कोर बनाया और फिर आस्ट्रेलिया को 49.3 ओवर में 242 रनों पर रोक दिया।

भारत से मिले 251 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी आस्ट्रेलियाई टीम को कप्तान एरॉन फिंच (37) और उस्मान ख्वाजा (38) ने पहले विकेट के लिए 14.3 ओवर में 83 रनों की साझेदारी कर मजबूत शुरुआत की। दोनों बल्लेबाज टीम के 83 के स्कोर पर ही आउट हो गए।

इसके बाद शॉन मार्श (16) भी कुछ खास नहीं कर सके और टीम के 122 के स्कोर पर आउट हो गए। मार्श के आउट होते ही विस्फोटक बल्लेबाज ग्लैन मैक्सवेल (4) भी चलते बने।

171 के स्कोर पर पीटर हैंड्सकोंब (48) के रूप में पांचवां विकेट गंवाने के बाद आस्ट्रेलिया ने 218 के स्कोर पर एलेक्स कैरी (22) के रूप में छठा, 223 के स्कोर पर नाथन कुल्टर नाइल (4) के रूप में अपना सातवां और पैट कमिंस (0) के रूप में आठवां विकेट गंवा दिया।

हालांकि मार्कस स्टोयनिस (52) जबतक विकेट पर टिके हुए थे, तबतक आस्ट्रेलिया की जीत लगभग पक्की लग रही थी। आस्ट्रेलिया को आखिरी छह गेंदों पर जीत के लिए 11 रन बनाने थे और स्टोयनिस क्रीज पर मौजूद थे।

इधर अपने सभी प्रमुख गेंदबाजों का ओवर पूरा होने के बाद कोहली ने आखिरी निर्णायक ओवर हरफनमौला खिलाड़ी विजय शंकर को दिया। शंकर अपने कप्तान के भरोसे पर पूरी तरह खरा उतरे।

शंकर ने 50वें ओवर की पहली गेंद पर स्टोयनिस को पगबाधा आउट कर भारत की जीत लगभग पक्की कर दी। स्टोयनिस ने 65 गेंदों पर चार चौके और एक छक्का लगाया। इसके बाद उन्होंने तीसरी गेंद पर एडम जम्पा (2) को बोल्ड कर भारत को आठ रनों से रोमांचक जीत दिला दी।

भारत की ओर से कुलदीप ने तीन, जसप्रीत बुमराह और विजय शंकर ने दो-दो तथा रवींद्र जडेजा और केदार जाधव ने एक-एक विकेट लिए।

इससे पहले, आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने मेजबान भारत को 48.2 ओवरों में 250 रनों पर ही ढेर कर दिया। भारत के लिए कप्तान विराट कोहली ने 120 गेंदों पर 10 चौकों की मदद 116 रन बनाए।

कोहली ने साथ ही इस मैदान के एक रिकार्ड को कायम रखा है। इस मैदान पर जब भी मैच हुआ है, भारत के किसी न किसी बल्लेबाज ने शतक जमाया है। कोहली ने इस मैच में इस रिकार्ड को कायम रखा है। कोहली का वीसीए मैदान पर यह दूसरा शतक है।

रोहित शर्मा पहले ओवर की आखिरी गेंद पर पैट कमिंस का शिकार बने। रोहित जब आउट हुए तब टीम का खाता भी नहीं खुला था। कोहली मैदान पर आए और शिखर धवन (21) के साथ टीम को 38 के कुल स्कोर तक ले गए। ग्लैन मैक्सवेल ने धवन को एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया।

अंबाती रायडू (18) ऑफ स्पिनर नाथन लॉयन का शिकार हो गए। भारत का स्कोर तीन विकेट के नुकसान पर 75 रन हो गया था। विजय शंकर ने पांच चौकों तथा एक छक्के की मदद से 46 रनों की पारी खेली। कोहली और शंकर के बीच चौथे विकेट के लिए 81 रनों की साझेदारी हुई।

पिछले मैच के हीरो केदार जाधव (11) और महेंद्र सिंह धोनी (0) को जाम्पा ने एक ही ओवर में आउट कर भारत को संकट में ला दिया। कोहली हालांकि एक छोर पर खड़े रहे। रवींद्र जडेजा (21) ने कोहली के साथ 87 रन जोड़ टीम को अच्छे स्कोर की तरफ ले जाना जारी रखा, लेकिन कमिंस की गेंद पर जडेजा 238 के कुल स्कोर पर उस्मान ख्वाजा के हाथों लपके गए।

कमिंस ने कोहली को 48वें ओवर में आउट किया। उन्होंने अपना 40वां शतक जड़ा। कुलदीप यादव तीन रनों का योगदान दे सके। नाथन कल्टर नाइल ने जसप्रीत बुमराह को आउट कर भारतीय पारी का अंत किया।

आस्ट्रेलिया के लिए कमिंस ने चार विकेट लिए। जाम्पा को दो विकेट मिले। नाइल, मैक्सवेल और लॉयन को एक-एक विकेट मिला।

--आईएएनएस

 

Published in क्रिकेट

नागपुर: आस्ट्रेलिया गेंदबाजों ने मंगलवार को विदर्भ क्रिकेट संघ (वीसीए) स्टेडियम में खेले जा रहे दूसरे वनडे मैच में भारत को बड़ा स्कोर नहीं बनाने दिया और निर्धारित 48.2 ओवरों में 250 रनों पर ढेर कर दिया। भारत के लिए विराट कोहली ने सबसे ज्यादा 116 रन बनाए। उन्होंने अपनी पारी में 120 गेंदों का सामना किया और 10 चौके मारे।

उनके बाद विजय शंकर ने 46 रनों की पारी खेली जिसके लिए उन्होंने 41 गेंदों का सामना किया और पांच चौके तथा एक छक्का मारा।

आस्ट्रेलिया के लिए पैट कमिंस ने चार विकेट लिए। एडम जाम्पा को दो विकेट मिले। नाथन कल्टर नाइल, ग्लैन मैक्सवेल और नाथन लॉयन को एक-एक विकेट मिला।

--आईएएनएस

 

Published in क्रिकेट

बेंगलुरू: मोबाइल प्रीमियर लीग (एमपीएल) ने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली को अपना ब्रांड एम्बेसडर बनाया है। देश में तेजी से बढ़ने वाले मोबाइल ई-स्पोटर्स प्लेटफॉर्म ने सोमवार को इस बात की घोषणा की। करार के मुताबिक विराट एमपीएल के प्रोमोशन में मदद करेंगे।

इस पर एमपीएल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) और संस्थापक साई श्रीनिवास किरण ने कहा, "देश के युवाओं के लिए विराट एक प्रेरणा हैं। उनका खेल के प्रतिसमर्पण और कभी न हार मानने की जिद के कारण ही वह यहां तक पहुंचे हैं। एमपीएल मानता है कि विराट की तरह हर कोई विजेता बन सकता है। हमारे और उनके करार से हमें उम्मीद है कि ई-स्पोटर्स को देश के ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचा पाएंगे।"

करार पर विराट ने कहा, "ई-स्पोटर्स लोगों को करीब लाता है और उम्र तथा क्षेत्र बाधाओं को तोड़ता है। मैं एमपीएल से जुड़कर काफी खुश हूं। यह मोबाइल ई-स्पोटर्स को देश में काफी आगे ले जाएगी।"

--आईएएनएस

Published in क्रिकेट

हैदराबाद: भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शुक्रवार को कहा कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के शुरू होने से पहले ही विश्व कप के लिए टीम का चयन कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि आईपीएल के प्रदर्शन का विश्व कप टीम पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

कोहली ने आस्ट्रेलिया के साथ होने वाले पहले मैच की पूर्वसंध्या पर संवाददाता सम्मेलन में कहा, "मुझे नहीं लगता कि आईपीएल का विश्व कप चयन पर कोई प्रभाव पड़ेगा। आईपीएल में जाने से पहले ही हमें एक मजबूत टीम तैयार करना है। अगर कुछ खिलाड़ी आईपीएल में अच्छा नहीं करते हैं तो वो विश्व कप टीम से बाहर नहीं होंगे।"

युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत खराब फॉर्म के दौर से गुजर रहे हैं। कोहली ने कहा कि उन्हें और मौके दिए जाएंगे लेकिन गेंदबाजी में कोई बदलाव नहीं होगा।

कप्तान ने कहा, "हमें टीम संयोजन के बारे में सोचना होगा। मुझे नहीं लगता कि एक गेंदबाज का कम खेलना अच्छा होगा, क्योंकि 40वें ओवर तक अतिरिक्त क्षेत्ररक्षक के साथ बढ़ना मुश्किल मुश्किल हो जाता है।"

उन्होंने कहा, "हमें बल्लेबाजी संयोजन के लिए काम करना होगा और हम जो चाहते हैं। लेकिन, मैं गेंदबाजी संयोजन को बदलते हुए नहीं देखना चाहता।"

कोहली ने लोकेश राहुल की भी तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने टी-20 में बेहतरीन प्रदर्शन करके चयनकर्ताओं के सामने मजबूती से अपना पक्ष रखा है।

कप्तान ने कहा, "केएल जब अच्छा खेलता है तो वो अलग ही स्तर पर होता है। हमने उसे आईपीएल में ऐसा करते देखा है और टीम इंडिया के लिए टुकड़ों में अच्छा करते देखा है। उम्मीद है कि वो लगातार ऐसा करना जारी रखेगा।"

--आईएएनएस

Published in क्रिकेट