कोलकाता: पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण के 26 उम्मीदवार आपराधिक पृष्ठभूमि वाले और 41 करोड़पति हैं। इनमें से एक निर्दलीय उम्मीदवार शामाली दास के पास 2,000 करोड़ रुपये की संपत्ति है।

इस चरण में मुर्शिदाबाद, नादिया, उत्तर 24 परगना, दक्षिण 24 परगना, कोलकाता और पूर्वी मिदनापुर जिले में फैले 17 सीटों पर 187 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला होगा। इन सीटों पर 12 मई को मतदान होना है।

पश्चिम बंगाल इलेक्शन वॉच के मुताबिक, 26 उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं, जिनमें से 15 उम्मीदवारों के खिलाफ हत्या, अपहरण और हत्या की कोशिश जैसे काफी गंभीर आरोप हैं।

सबसे अधिक दागी छवि वाले उम्मीदवार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) में है, दोनों में क्रमश: छह और पांच उम्मीदवार ऐसे हैं। इसके अतिरिक्त मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के चार और कांग्रेस के तीन उम्मीदवार दागी हैं।

बहरामपुर से कांग्रेस उम्मीदवार अधीर रंजन चौधरी एकमात्र ऐसे उम्मीदवार हैं जिन पर हत्या का आरोप है।

भाजपा के पी.सी.सरकार और राहुल सिन्हा, कांग्रेस के धनंजय मित्रा पर महिलाओं के खिलाफ अपराध का आरोप है।

करोड़पति उम्मीदवारों की बात करें तो तृणमूल के 12, भाजपा के सात और कांग्रेस व माकपा के चार-चार उम्मीदवार करोड़पति हैं।

जाधवपुर और कोलकाता दक्षिण से चुनाव लड़ रहीं शामली दास ने 2,000 करोड़ रुपये की संपत्ति घोषित की है, जिसके बाद सबसे अधिक संपत्ति तृणमूल के देव (15 करोड़ रुपये) के पास है।

डायमंड हार्बर से निर्दलीय चुनाव लड़ रहे सौगत दास के पास कोई संपत्ति नहीं है, जबकि इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के तामलुक से उम्मीदवार माणिक चंद्र मंडल के पास सिर्फ 1,000 रुपये ही हैं।

187 में से 77 उम्मीदवारों ने आयकर से जुड़ा ब्यौरा नहीं दिया है, जबकि 27 ने अपने स्थायी खाता संख्या की जानकारी नहीं दी है।

अच्छी बात यह है कि इनमें 120 उम्मीदवार स्नातक या इससे अधिक पढ़े लिखे हैं।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

 

Published in election

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव के आठवें चरण में सात राज्यों के 64 निर्वाचन क्षेत्रों में बुधवार सुबह सात बजे मतदान शुरू हो गया। इस चरण में करीब 900 उम्मीदवार मैदान में हैं। मतदान शाम छह बजे तक चलेगा। बिहार के नक्सल प्रभावित कुछ इलाकों में मतदान चार बजे ही खत्म हो जाएगा। मतदान केंद्रों पर शुरुआत में ही लगी लंबी कतारें इस बात का संकेत हैं कि इस चरण में भी मतदान प्रतिशत 70 से 80 तक पहुंचेगा। आठवें चरण में आंध्र प्रदेश की 25 सीटों, बिहार की सात सीटों, जम्मू एवं कश्मीर की दो सीटों, उत्तर प्रदेश की 15 सीटों और पश्चिम बंगाल की छह सीटों के साथ ही उत्तराखंड की सभी पांच सीटों एवं हिमाचल प्रदेश की सभी चार सीटों पर मतदान कराए जा रहे हैं।

उत्तर प्रदेश में मतदान का यह पांचवां चरण है, जिसके तहत 15 लोकसभा सीटों के लिए मतदान हो रहा है। ये 15 लोकसभा सीटें अमेठी, सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, कौशाम्बी, फूलपुर, इलाहाबाद, फैजाबाद, अंबेडकरनगर, बहराइच, कैसरगंज, श्रावस्ती, गोंडा, बस्ती, संतकबीरनगर और भदोही हैं।

इस चरण में राहुल गांधी, वरुण गांधी, स्मृति ईरानी, कुमार विश्वास, कुंवर रेवती रमण सिंह, बेनी प्रसाद वर्मा, राजकुमारी रत्ना सिंह, कीर्तिवर्धन सिंह, ब्रजभूषण शरण सिंह और निर्मल खत्री सहित कुल 243 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला होना है।

आंध्र प्रदेश में लोकसभा चुनाव के साथ ही सीमांध्र क्षेत्र की 175 विधनासभा सीटों के लिए भी मतदान शुरू हो गया। आंध्र प्रदेश का दो क्षेत्रों तेलंगाना एवं सीमांध्र में बंटवारा होने के बाद सीमांध्र क्षेत्र में पहली बार विधानसभा चुनाव भी हो रहा है।

बिहार में लोकसभा की सात सीटों के लिए मतदान के साथ-साथ विधानसभा की दो सीटों पर उपचुनाव के लिए भी मतदान हो रहे हैं। लोकसभा की सात सीटों के लिए यहां 118 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। इनमें पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी सारण से पहली बार लोकसभा पहुंचने के लिए जोर आजमा रही हैं। यहां भाजपा के राजीव प्रताप रूडी से उनका मुकाबला है।

हाजीपुर (सुरक्षित) सीट से पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान भी मैदान में हैं। 2009 में सात में से पांच सीटें जद (यू) के खाते में गई थीं, जबकि दो सीटें राजद के हिस्से में गई थीं।

पश्चिम बंगाल की छह सीटों के लिए 72 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। इस चरण में वाममोर्चा पर अपनी छहों सीटों को बरकरार रखने का दवाब है। इस चरण में प्रमुख रूप से नौ बार से सांसद बासुदेव आचार्य, पूर्व अभिनेत्री मुनमुन सेन, संध्या राय और गायक बाबुल सुप्रियो मैदान में हैं।

जम्मू एवं कश्मीर की दो सीटों लद्दाख एवं बारामूला में मतदान कराए जा रहे हैं, वहीं उत्तराखंड एवं हिमाचल प्रदेश की सभी सीटों पर एक ही चरण में मतदान हो रहा है।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

Published in election

पटना: भड़काऊ भाषण देने वाले बीजेपी नेता गिरिराज सिंह की गिरफ़्तारी पर रोक लग गई है। झारखंड की देवघर कोर्ट ने 3 मई तक गिरफ़्तारी पर यह रोक लगाई है। आपत्तिजनक बयान देने के मामले में गिरिराज पर गैर-ज़मानती वारंट जारी किया गया था।

गिरिराज पर कुल तीन एफआईआर दर्ज हुई हैं। यह एफआईआर पटना, देवघर और बोकारो में दर्ज की गई हैं। पटना कोर्ट से भी अग्रिम ज़मानत मिल गई है।

बोकारो कोर्ट ने अग्रिम ज़मानत देने से इनकार किया है और अब देवघर कोर्ट ने भी गिरफ़्तारी पर रोक लगा दी है।

Published in election

लखनऊ: अपने पति राबर्ट वाड्रा पर हो रहे तीखे शाब्दिक प्रहारों से आहत प्रियंका वाड्रा ने पलटवार करते हुए कहा कि उनके पति और परिवार को जितना जलील किया जाएगा, वे उतना ही मजबूत होकर उभरेंगे। मंगलवार को अपनी मां कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के लिए रायबरेली में प्रचार करने गईं प्रियंका ने यहां नुक्कड़ सभा को संबोधित करते हुए कहा, "विपक्षी दल मेरे पति और परिवार के बारे में कठोर शब्दों का प्रयोग कर कर रहे हैं। टीवी पर ये सब देखकर दुख होता है।..मैंने अपनी दादी इंदिरा गांधी से सीखा है कि जब सच्चाई दिल में हो तो वह एक कवच बन जाती है। मेरे पति और मेरे परिवार का जितना अपमान किया जाएगा, हम उतने ही मजबूत होकर उभरेंगे।"

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए प्रियंका ने लोगों से पूछा, "आप कैसा भारत चाहते हैं, जहां सब मिलकर रहें और आगे बढ़ें या जहां आपको आपस में लड़वाया जाए।"

उन्होंने कहा, "जितना मेरे परिवार को गिराने की कोशिश की जाएगी, हम उतनी ही दृढ़ता से खड़े होंगे।"

इधर कुछ दिनों से मोदी, अरुण जेटली और उमा भारती सहित दूसरे दलों के नेता लगातार प्रियंका के पति राबर्ट वाड्रा पर जमीन सौदों में कथित गड़बड़ी और गलत तरीके से कमाए गए धन के मुद्दे को लेकर जमकर हमले कर रहे हैं।

प्रियंका ने कहा, "ये बहुत दुख की बात है कि राजनीतिक लाभ के लिए विपक्षी नेता मेरे पति और परिवार पर हमले कर रहे हैं।"

प्रियंका ने लोगों से कहा, "आप लोगों ने मेरे परिवार को बहुत कुछ दिया। मैं आपसे मां सोनिया को वोट देने के लिए नहीं, बल्कि अपने बच्चों के अच्छे भविष्य के लिए वोट करने की अपील कर रही हूं।"

रायबरेली संसदीय क्षेत्र में 30 अप्रैल को मतदान होना है।

लखनऊ: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर हमला करते हुए कहा कि जिस तरह 2004 में 'इंडिया शाइनिंग' का गुब्बारा फूटा था, उसी तरह इस चुनाव में मोदी का गुब्बारा फूटेगा। उत्तर प्रदेश के मथुरा में राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) उम्मीदवार जयंत चौधरी के समर्थन में आयोजित चुनावी रैली को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा कि वर्ष 2004 में भाजपा इंडिया शाइनिंग का नारा लेकर उतरी थी और सब जगह कहती थी कि हिंदुस्तान चमक रहा है।

राहुल ने कहा, "भाजपा के लोग 2004 के चुनाव के समय पूंजीपतियों के पास गए लेकिन गांव, गरीब और किसानों के पास नहीं गए। चुनाव आया तो किसानों ने इंडिया शाइनिंग का गुब्बारा फोड़ दिया। इस चुनाव में भी मोदी गुब्बारे का यही हाल होगा।"

उन्होंने कहा, "कांग्रेस की सोच है कि विकास हो तो एक या दो लोगों का नहीं, सबका हो। दूसरी तरफ भाजपा की सोच कुछ गिने-चुने लोगों का विकास करने की है।"

कांग्रेस को गरीबों और किसानों की सबसे बड़ी रहनुमा बताते हुए राहुल ने कहा कि कांग्रेस ने 2004 में सत्ता में आने के बाद बैंकों के दरवाजे किसानों के लिए खोले। किसानों को 70 हजार करोड़ रुपये का कर्ज दिलाया।

उन्होंने कहा, "कांग्रेसनीत केंद्र सरकार ने 100 साल पुराने भूमि अधिग्रहण कानून को बदलकर नया कानून बनाया जिसमें किसानों को उनकी जमीन का दाम बाजार से चार गुना ज्यादा मिलता है।"

राहुल ने कहा, "मथुरा शहर यमुना किनारे बसा है। हमारी कोशिश बीते सालों में इसे साफ -सुथरा करने की रही है। हमने राज्य सरकार को इसके लिए पैसा भेजा, लेकिन समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की सरकारों ने यमुना की सफाई नहीं करवाई।"

राहुल ने कहा, "कांग्रेस नीत संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की सरकार फिर से आने पर सबसे पहले, प्राथमिकता से यमुना की सफाई का काम होगा।"

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

Published in election

आजमगढ़: समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की गरीबों के प्रति हमदर्दी और विकास की बातों को झूठ करार देते हुए मंगलवार को कहा कि जो व्यक्ति एक दिन में पांच कुर्ते बदलता हो, वह गरीब का दर्द क्या समझेगा।

यादव ने आजमगढ़ सीट से नामांकन दाखिल करने के बाद आईटीआई मैदान पर आयोजित सभा में कहा कि मोदी गुजरात के विकास की जो बातें करते हैं वे सब झूठी हैं। मोदी अपनी सभाओं में उमड़ने वाली भीड़ से नहीं बल्कि विकास के पैमाने से सपा का मुकाबला करके दिखाएं।

उन्होंने दावा किया कि मोदी के पास 500 कुर्ते हैं और वह रोजाना पांच कुर्ते बदलते हैं। ऐसा व्यक्ति भला गरीब का दर्द क्या समझेगा।

यादव ने मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वाराणसी में भाजपा का एक चायवाला चुनाव लड़ रहा है तो सपा का पानवाला उसके खिलाफ खड़ा है। पान खाने से विटामिन सी मिलता है जबकि चाय स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह है।

उन्होंने गुजरात के विकास मॉडल को हवा-हवाई बताते हुए कहा कि गुजरात के किसानों को उत्तर प्रदेश की अपेक्षा खाद और बिजली महंगी मिलती है, जबकि प्रदेश की सपा सरकार ने खाद पर मूल्यवर्धित कर नहीं लगने दिया।

यादव ने कहा कि मोदी के शासनकाल में गुजरात में सात हजार लोग भूख से मर चुके हैं, जबकि उत्तर प्रदेश में भूख से एक भी व्यक्ति नहीं मरा। उत्तर प्रदेश हर मामले में गुजरात से बेहतर है।

उन्होंने कहा कि देश में ज्यादातर उद्योगपति गुजरात के हैं और मोदी उनके धन के बल पर ही चुनाव लड़ रहे हैं।

Published in election

पटना: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता गिरिराज सिंह को उनके विवादास्पद बयान के लिए जल्द ही गिरफ्तार किया जा सकता है। यह संकेत चुनाव आयोग के एक अधिकारी ने मंगलवार को दिया। गिरिराज ने कहा था कि भाजपा नेता नरेंद्र मोदी का विरोध करने वालों को पाकिस्तान भेज दिया जाएगा।

बिहार के अतिरिक्त मुख्य निर्वाची अधिकारी आर. लक्ष्मण ने यहां संवाददाताओं से कहा कि झारखंड पुलिस ने बिहार सरकार से गिरिराज सिंह को गिरफ्तार करने में मदद मांगी है। गिरिराज के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया जा चुका है।

झारखंड के देवघर के एक थाने में रविवार को गिरिराज के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया।

लक्ष्मण ने कहा, "झारखंड के मुख्य निर्वाची अधिकारी ने बिहार के मुख्य निर्वाची अधिकारी से सिंह की गिरफ्तारी में मदद करने की मांग की है।"

उन्होंने यह भी कहा कि राज्य के गृह विभाग को इस मामले को देखने के लिए कहा गया है।

आयोग के निर्देश पर गिरिराज सिंह के खिलाफ सोमवार को पटना में भी मामला दर्ज किया गया। आयोग ने पटना जिला प्रशासन को निर्देश दिया था।

लक्ष्मण ने कहा कि गिरिराज का बयान आदर्श चुनाव आचार संहिता का खुला उल्लंघन है।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

Published in election

रायपुर: छत्तीसगढ़ के दुर्ग में नरेंद्र मोदी की सभा में पहुंचने के लिए पैसे बांटते हुए तीन भाजपा कार्यकर्ताओं को पकड़ा गया है। इसकी निंदा करते हुए कांग्रेस के मीडिया विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि चंद उद्योगपतियों के पैसों से भाजपा भीड़ जुटाने का प्रयास कर रही है। इससे 'मोदी लहर' की असलियत उजागर हो गई है। कांग्रेस नेता ने कहा कि दरअसल पूरे देश में मनरेगा, स्मार्ट कार्ड, वनाधिकार नियम जैसे जनकल्याणकारी कानूनों को लागू किए जाने के कारण कांग्रेस के प्रति जबर्दस्त जनसमर्थन है। इससे बौखलाई भाजपा ने अब पैसे बांटने की रणनीति अपनाई है, जो निंदनीय है।

त्रिवेदी ने कहा कि मोदी की घमंड भरी जहरीली बातों को सुनने के लिए कोई नहीं जाता है, इसलिए भाजपा ने पैसे बांटकर मोदी की सभा को सफल बनाने की रणनीति बनाई, लेकिन उसे यह भी भारी पड़ा। उन्होंने कहा कि दुर्ग में तीन भाजपा कार्यकताओं को पैसे बांटते पकड़े जाने से भाजपा का चाल चरित्र और चेहरा उजागर हो गया है।

उन्होंने कहा कि भाजपा जिसे 'मोदी लहर' बता रही है, वह कहीं नहीं है। उसका यह दुष्प्रचार 'इंडिया शाइनिंग' की तरह चमक खो देगी।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

Published in election

नई दिल्ली / पटना: बीजेपी के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के विरोधियों को पाकिस्तान भेजने वाले बयान पर बिहार बीजेपी के नेता गिरिराज सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है। गिरिराज के इस बयान को उत्तेजक मानते हुए चुनाव आयोग के निर्देश पर देवघर जिले के मोहनपुर थाने ने उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

इससे पहले गिरिराज सिंह को पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने भी फटकार लगाई है। हालांकि राजनाथ की फटकार का गिरिराज पर कोई असर नहीं हुआ और वह अपने बयान पर कायम हैं। गिरिराज अपने कल के बयान को खुद तोड़-मरोड़कर उसे नए संदर्भ में रखते हुए कहा कि जो लोग आतंकवाद, फिरकापरस्ती को बढ़ावा देते हैं, उनके लिए देश में कोई जगह नहीं है।

दरअसल शनिवार को गिरिराज ने झारखंड के गोड्डा में एक रैली में कहा था कि जो लोग नरेंद्र मोदी को रोक रहे हैं, वे पाकिस्तान की ओर देख रहे हैं, आने वाले दिन में ऐसे लोगों की जगह हिंदुस्तान में नहीं, बल्कि पाकिस्तान में है। गिरिराज ने जिस रैली में यह बयान दिया, उसमें बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष नितिन गडकरी भी मौजूद थे। गिरिराज सिंह बिहार की नवादा सीट से बीजेपी के उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ रहे हैं।

राजनाथ ने रविवार को गिरिराज को तलब किया और उन्हें इस तरह के विवादास्पद बयान देने से बचने की नसीहत दी। राजनाथ ने कहा कि इस तरह के बयान से पार्टी को नुकसान होता है।

बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने इस बयान को गैर-जिम्मेदाराना बताते हुए कहा कि पार्टी इसे स्वीकार नहीं करती। उन्होंने ट्वीट किया, बीजेपी गिरिराज सिंह के गैर जिम्मेदाराना बयान को स्वीकार नहीं करती।

पार्टी सूत्रों ने कहा कि गिरिराज सिंह की उनके बयानों के लिए निंदा की गई। बीजेपी का मानना है कि इन बयानों ने अन्य दलों को मुद्दा थमा दिया है, जबकि पार्टी का प्रचार अभियान विकास के एजेंडे के इर्द-गिर्द चल रहा है।

बीजेपी पर निशाना साधते हुए कांग्रेस प्रवक्ता मीम अफजल ने सवाल किया कि क्या लालू प्रसाद, नीतीश कुमार, मुलायम सिंह यादव और मायावती जैसे गैर-एनडीए नेताओं को पाकिस्तान भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग को गिरिराज सिंह की टिप्पणियों पर संज्ञान लेना चाहिए और उन्हें 'जेल' भेजा जाना चाहिए। कांग्रेस के विधि प्रकोष्ठ केसी मित्तल ने कहा कि वे इस संबंध में चुनाव आयोग जाएंगे।

Published in election

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पार्टी नेता और बिहार के नवादा से प्रत्याशी गिरिराज सिंह के एक विवादास्पद बयान से खुद को अलग कर लिया है। गिरिराज ने एक समुदाय विशेष को लक्ष्य कर बयान दिया है कि जो लोग नरेंद्र मोदी का विरोध करेंगे, उन्हें पाकिस्तान भेज दिया जाएगा। भाजपा प्रवक्ता निर्मला सीतारमन ने सफाई दी है कि गिरिराज सिंह के उस बयान से पार्टी का कोई लेना-देना नहीं है।

पार्टी नेता और बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने हालांकि इसे गैर जिम्मेदाराना बयान बताया।

उन्होंने एक ट्वीट में कहा, "भाजपा गिरिराज सिंह द्वारा दिए गए गैर जिम्मेदाराना बयान को मंजूरी नहीं देती।"

भाजपा सूत्रों ने बताया कि पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने गिरिराज सिंह को एक संदेश भेजा है और उनसे ऐसे बयान देने से बचने के लिए कहा है।

झारखंड के देवघर जिले में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा था, "जो लोग नरेंद्र मोदी को रोकना चाहते हैं, वे पाकिस्तान की तरफ देख रहे हैं। आने वाले दिनों में इन लोगों के लिए जगह हिंदुस्तान में नहीं, झारखंड में नहीं, बल्कि पाकिस्तान में होगी।"

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।