आय फाइनेंस ने 1,00,000 माइक्रो बिजनेस को कर्ज बांटे

कैपिटलजी (जिसे पहले गूगल कैपिटल कहा जाता था) द्वारा समर्थित फिनटेक कर्जदाता आय फाइनेंस ने गुरुवार को घोषणा की है कि कंपनी ने 1,00,000 से अधिक सूक्ष्म व्यवसायों या माइक्रो बिजनेस को कार्यशील पूंजी ऋण प्रदान किया है। कंपनी ने एक बयान में कहा कि भारत में 5.7 करोड़ से अधिक सूक्ष्म और लघु उद्यम हैं, जो 16,000 अरब रुपये से अधिक की धनराशि की कमी के कारण समृद्ध नहीं हो पा रहे हैं। आय फाइनेंस इसी कमी को पूरा करने के लिए किफायती मूल्य पर समावेशी वित्त प्रदान करके भारत में ऐतिहासिक रूप से असाध्य मानी जाने वाली समस्या को सफलतापूर्वक हल कर रहा है।

आय फाइनेंस के प्रबंध निदेशक और संस्थापक संजय शर्मा ने कहा, "माइक्रो उद्यम व्यवसायों के एमएसएमई पदानुक्रम के निचले भाग पर हैं और हमारा मिशन इस आर्थिक रूप से बहिष्कृत क्षेत्र को संगठित वित्त के तहत लाकर इसे आगे बढ़ाना है। आज औपचारिक अर्थव्यवस्था की जद में 1,00,000 माइक्रो कारोबारों को लाने के बाद, हम अपने लक्ष्य के और करीब आ गए हैं और इसने भारत में वित्तीय समावेश को बेहतर बनाने के हमारे संकल्प को और मजबूत किया है। जब सूक्ष्म उद्यमी समृद्ध होते हैं, तो उनके कर्मचारी अपने वेतन में रोजगार और विकास का एक स्थिर स्रोत प्राप्त करते हैं, जिसके परिणामस्वरूप बड़े पैमाने पर समुदाय का विकास होता है।"

बयान में बताया गया कि आय फाइनेंस की देश के 11 राज्यों में 104 शाखाएं हैं। किफायती क्रेडिट समाधानों के अलावा, आय फाइनेंस ने देश भर के सूक्ष्म व्यवसायों को और अधिक कुशलता से प्रबंधित करने में मदद करने के लिए एक डिजिटल बही-खाता और सलाहकार एप भी विकसित किया है।  

--आईएएनएस