उत्तर रेलवे को पहला हाईस्पीड इंजन मिला

 उत्तर रेलवे को मंगलवार को पहला एयरोडायनेमिकली डिजाइन किया गया यात्री इलेक्ट्रिक इंजन (लोकोमोटिव) मिला, जो 200 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ सकती है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, "पहला एयरोडायनेमिकली डिजाइन किया गया यात्री इलेक्ट्रिक इंजन का निर्माण चितरंजन लोकोमोटिव वर्क्‍स में किया गया है। इसे आज उत्तर रेलवे की सेवा में लगाया गया है।"

अधिकारी ने बताया कि नया लोकोमोटिव उन्नत एयरोडायनेमिक्स और अर्गोनॉमिक डिजाइन से लैस है, जिसमें ड्राइवर की सुविधा और सुरक्षा का खास ख्याल रखा गया है। 

नए इंजन का इस्तेमाल प्रमुख ट्रेनों में किया जाएगा, जिसमें राजधानी एक्सप्रेस, गतिमान एक्सप्रेस, और शताब्दी एक्सप्रेस शामिल हैं। इस इंजन को लगाने से इन ट्रेनों के यात्रा समय में कमी आएगी। 

अधिकारी ने बताया, "नए इंजन के अगले हिस्से की डिजाइन एयरोडायनेमिक आकार में है, जिससे उच्च गति पर हवा के प्रतिरोध में कमी आएगी तथा इसकी उन्नत सस्पेंशन प्रणाली किसी भी प्रकार के झटकों से बचाव करेगी। यह ट्रेन 200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार आसानी से पकड़ लेगी।"

--आईएएनएस

POPULAR ON IBN7.IN