मोदी सरकार के लिए खुशखबरी! निर्यात में जबरदस्‍त वृद्धि, व्‍यापार घाटे में भी कमी

पेट्रोलियम उत्पाद जैसे क्षेत्रों के मजबूत प्रदर्शन के बदौलत देश का निर्यात अगस्त में 19.21 प्रतिशत बढ़कर 27.84 अरब डॉलर हो गया। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने ट्वीट में कहा, “अगस्त 2018 में निर्यात कारोबार 27.84 अरब डॉलर हो गया। इसमें 19.21 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी। पेट्रोलियम उत्पादों को हटाकर भी निर्यात में 17.43 प्रतिशत की वृद्धि हुयी। कच्चे तेल की कीमतों में तेजी की वजह से अगस्त में वस्तुओं का आयात भी 25.41 प्रतिशत बढ़कर 45.24 अरब डॉलर हो गया। इसके चलते आलोच्य माह में व्यापार घाटा 17.4 अरब डॉलर रहा। जबकि जुलाई महीने में व्यापार घाटा बढ़कर पांच साल के उच्चतम स्तर के नजदीक पहुंच गया था। इस महीने यह आंकड़ा 18.02 अरब डॉलर था। चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-अगस्त अवधि के दौरान निर्यात में 16.13 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी जबकि आयात में 17.34 प्रतिशत की तेजी आई।

वहीं दूसरी ओर इन दिनों रुपए में लगातार गिरावट जारी है। डॉलर के मुकाबले रुपये में गिरावट जारी है। रुपया बुधवार की सुबह 72.91 रुपये प्रति डॉलर के रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गया। मंहगाई के दबाव के चलते रुपये में गिरावट आई है और डॉलर के मुकाबले इसमें गिरावट दर्ज की गई। रुपये की बुधवार को शुरुआत 72.78 प्रति डॉलर से हुई। बीते मंगलवार को रुपया 72.69 प्रति डॉलर पर बंद हुआ था। इसके वाबजूद भी व्यापार घाटे में कमी आई।

बात अगर सेंसेक्स की करें तो 12 सिंबतर को देश के शेयर बाजार हरे निशान के साथ खुले। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स सुबह 10.26 बजे 25.88 अंकों की मजबूती के साथ 37,439.01 पर और निफ्टी भी लगभग इसी समय 10.75 अंकों की मजबूती के साथ 11,298.25 पर कारोबार करते देखे गए। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 133.29 अंकों की मजबूत बढ़त के साथ 37546.42 पर जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 52.60 अंकों की बढ़त के साथ 11,340.10 पर खुला।