जीएसटी संग्रह जनवरी में मामूली घटकर 86,318 करोड़ रुपये रहा

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के तहत राजस्व के संग्रह में मामूली गिरावट दर्ज की गई है और जनवरी में यह 385 करोड़ रुपये रही। 

लगातार दो महीनों की गिरावट के बाद दिसंबर में जीएसटी संग्रह में तेजी आई थी और 86,703 करोड़ रुपये का कर संग्रह किया गया था। 

वित्त मंत्रालय ने कहा, "जनवरी में जीएसटी के तहत (25 फरवरी तक) कुल 86,318 करोड़ रुपये का राजस्व संग्रह हुआ।"

इनमें से 14,233 करोड़ रुपये केंद्रीय जीएसटी के तहत, 19,961 करोड़ रुपये राज्य जीएसटी के तहत, 43,794 करोड़ रुपये एकीकृत जीएसटी के तहत और 8,331 करोड़ रुपये मुआवजा सेस के जरिए संग्रहित हुआ।

मंत्रालय के मुताबिक, करीब जीएसटी के अंतर्गत अब तक 1.03 करोड़ करदाता पंजीकृत हुए हैं और करीब 57.78 लाख रिटर्न दाखिल किए गए हैं।

मंत्रालय ने कहा, "यह कुल करदाताओं का 69 फीसदी है, जिन्हें मासिक रिटर्न दाखिल करने की आवश्यकता होती है।"

जीएसटी के तहत एकत्र की गई कुल रकम में 11,327 करोड़ रुपये आईजीएसटी से सीजीएसटी में हस्तांतरित किए जाएंगे और 13,479 करोड़ रुपये एसजीएसटी में हस्तांतरित किए जाएंगे। 

मंत्रालय ने कहा, "इस प्रकार से कुल संग्रहण सीजीएसटी और एसजीएसटी के तहत क्रमश: 25,560 करोड़ रुपये और 33,440 करोड़ रुपये हुए।"