GST: सस्ती चीजें महंगी बेचीं तो खैर नहीं, सरकार बनाएगी नेशनल एंटी प्रॉफिटिंग अथॉरिटी

जीएसटी काउंसिल ने करीब 200 चीजों की दरों में बदलाव और कटौती की थी, जिसके बाद उम्मीद जताई जा रही थी कि ये सब चीजें और सेवाएं सस्ती हो जाएंगी. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. कई चीजों और सेवाओं के दाम बढ़ा दिए गए यानि ग्राहक का बिल जस का तस है. ऐसे में अब सरकार ने कड़ा रुख अपनाते हुए नेशनल एंटी प्रॉफिटिंग अथॉरिटी बनाने का ऐलान किया है.

सरकार ने घोषणा की कि वो जीएसटी के तहत नेशनल एंटी प्रॉफिटिंग अथॉरिटी बनाएगी ताकि टैक्स में जो कटौती की गई है, उसका फायदा लोगों तक मिल सके. रेस्टोरेंट सहित करीब पौने दो सौ सामान और सेवाओं पर जीएसटी घटाया गया है. दिल्ली में करीब दस हजार रेस्टोरेंट हैं. जहां खाने पर अब तक आपको 18 फीसदी जीएसटी देना पड़ता था, लेकिन गुरुवार को सरकार ने जीएसटी कम करके 5 फीसदी कर दिया.

आनंदाज रेस्‍टोरेंट के मालिक आनंद गुप्ता का कहना है कि सरकार ने पांच फीसदी इनपुट टैक्स क्रेडिट को खत्म कर दिया है. इसका असर आने वाले वक्त रेस्टोरेंट में खाने की कीमत पर भी पड़ सकता है. उधर, बीजेपी के नेता किरीट सोमैया ने सरकार को पत्र लिखकर शिकायत की है कि मुंबई के कुछ रेस्टोरेंट लोगों को इस छूट का फायदा नहीं दे रहे हैं, लेकिन रेस्टोरेंट एसोसिएशन इस बात को नकार रहा है.

दिल्ली होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन के प्रेसिडेंट संदीप खंडेलवाल का कहना है कि घरेलू उपयोग के 178 सामानों पर भी जीएसटी घटा है, लेकिन इसका फायदा आम लोगों को मिलने में कुछ वक्त लगेगा. दुकानदारों का कहना है कि पुराने माल पर कंपनी से जब बिलिंग पुरानी हुई है तो कम करके वो कैसे दे सकते हैं.