बीएसई में लखनऊ नगर निगम का बॉन्ड हुआ 225 फीसदी गुना सब्सक्राइब
Monday, 16 November 2020 20:48

  • Print
  • Email

लखनऊ: कोरोना काल में यूपी के लखनऊ नगर निगम ने ऐतिहासिक उपलब्धि दर्ज की है। लखनऊ नगर निगम के बॉन्ड को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में दो सौ करोड़ के कुल अंक के साथ लॉन्च किया है, जो 225 फीसदी (450 करोड़) से अधिक सब्सक्राइब हुआ। 10 साल के बॉन्ड के लिए 8.5 फीसदी की उछाल के साथ एक बहुत ही आकर्षक दर पर बंद हुआ, जो एक रिकॉर्ड है। इसे लेकर लखनऊ में 2018 में हुए इन्वेस्टर्स समिट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की थी। इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर भारत में 'अमृत' योजना के तहत पहले नगर निगम के बॉन्ड के रूप में लांच करने के लिए एक चुनौती के रूप में लिया था। हालांकि इसे दीपावली के एक दिन पहले 13 नवंबर को सफलतापूर्वक बीएसई में लांच किया गया। उल्लेखनीय है कि कोविड काल में इसे जारी करना अपने आप में उपलब्धि है।

इस बॉन्ड का ओवर सब्सक्राइब होना, इस बात का संकेत है कि देश में आर्थिक माहौल में सुधार के कारण निवेशकों की दिलचस्पी है। लखनऊ नगर निगम की ओर से लांच किया गया, बॉन्ड शहरी शासन में एक बदलाव का प्रतीक है और इसके लिए प्रदेश सरकार और भारत सरकार ने अपना पूरा समर्थन दिया है।

इस दौरान बीएसई में कैबिनेट मंत्री आशुतोष टंडन, प्रमुख सचिव दीपक कुमार, मुख्यमंत्री के सचिव संजय प्रसाद और नगरायुक्त अजय कुमार द्विवेदी मौजूद रहे।

लखनऊ नगर निगम का यह बॉन्ड अधिक बाजार उन्मुख और पारदर्शी होने के कारण स्थानीय प्रशासन को और गति देगा। प्रदेश सरकार, लखनऊ नगर निगम द्वारा निर्धारित उदाहरण का अनुकरण करने के लिए राज्य के अन्य स्थानीय निकायों को भी प्रोत्साहित करेगा। उम्मीद है कि गाजियाबाद और फिर अन्य शहरों जैसे वाराणसी, आगरा और कानपुर के नगर निगम भी आने वाले महीनों में नगर निगम के बॉन्ड जारी करेंगे।

अहमदाबाद नगर निगम ने जनवरी 1998 में परियोजनाओं के लिए राज्य सरकार की गारंटी के बिना 100 करोड़ के लिए पहला बॉन्ड जारी किया था। अब लखनऊ नगर निगम ने यह बॉन्ड जारी करके उत्तर भारत में पहले नगर निगम के रूप में प्रतिष्ठा बनाई।

--आईएएनएस

वीकेटी/एएनएम

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss