चीन से सौर उपकरण आयात पर सेफगार्ड शुल्क के कारण सरकार सीमा शुल्क कम कर सकती है
Sunday, 02 August 2020 09:28

  • Print
  • Email

नई दिल्ली: सरकार ने महत्वूपर्ण बिजली क्षेत्र में चीनी उपकरणों के इस्तेमाल पर रोक लगाने की एक कोशिश के तहत सौर बैटरियों और मॉड्यूल्स के आयात पर दोहरे कराधान का प्रस्ताव किया है।

सरकार के सूत्रों ने कहा है कि सौर उपकरणों पर 15 प्रतिशत सेफगार्ड शुल्क के अतिरिक्त सौर मॉड्यूल्स पर 10 प्रतिशत सीमा शुल्क और सौर बैटरियों पर पांच प्रतिशत सीमा शुल्क लगाया जा सकता है।

यह दर विद्युत मंत्रालय द्वारा इसके पहले प्रस्तावित सौर उपकरणों के आयात पर 20-25 प्रतिशत शुल्क से कम है। एक साल तक सेफगार्ड शुल्क के जारी रहने के कारण बेसिक सीमा शुल्क का प्रस्ताव कम किया गया है।

विद्युत मंत्रालय ने सौर उपकरण पर बेसिक सीमा शुल्क संबंधित अपने प्रस्ताव को संशोधित किया है, क्योंकि व्यापार उपचार महानिदेशक (डीटीआर) ने चीन, थाईलैंड और वियतनाम से सौर बैटरियों और मॉड्यूल्स के आयात पर 14.9 प्रतिशत सेफगार्ड शुल्क का प्रावधान 29 जुलाई, 2021 तक बढ़ा दिया है। यह शुल्क 30 जनवरी, 2021 से घटकर 14.5 प्रतिशत हो जाएगा।

बिजली मंत्रालय ने इसके पहले सौर मॉड्यूल्स के आयात पर मौजूदा वर्ष के लिए 20-25 प्रतिशत बेसिक सीमा शुल्क का प्रस्ताव किया था, जिसे अगले साल बढ़कर 40 प्रतिशत के स्तर तक जाना था। इसी तरह सौर बैटरियों पर प्रस्तावित शुल्क पहले साल के लिए 15-20 प्रतिशत और अगले साल के लिए 30-40 प्रतिशत था।

बिजली मंत्रालय के एक सूत्र ने नाम न जाहिर करने के अनुरोध के साथ कहा, "बेसिक सीमा शुल्क का प्रस्ताव इसलिए संशोधित किया गया है, क्योंकि इसे इस बात को ध्यान में रखकर तय किया गया था कि सेफगार्ड शुल्क अगस्त से वापस ले लिया जाएगा और ऊंचा सीमा शुल्क सौर उपकरणों के आयात पर रोक लगाए रखेगा। लेकिन सेफगार्ड शुल्क चूंकि बरकरा है, लिहाजा सीमा शुल्क हमारे पूर्व प्रस्ताव से अलग होगा।"

वित्त मंत्रालय ने सेफगार्ड शुल्क को अतिरिक्त एक साल तक जारी रखने संबंधित अधिसूचना जारी कर दी है, लेकिन सौर उपकरण पर सीमा शुल्क संबंधित अधिसूचना अभी जारी होनी बाकी है। सूत्रों ने कहा कि यह जल्द ही जारी की जाएगी और यह पूर्व प्रभाव से एक अगस्त से प्रभावी हो सकती है।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss