एसबीआई लागत घटाने, श्रमशक्ति की कुशलता बढ़ाने पर ध्यान देगा
Tuesday, 14 July 2020 18:37

  • Print
  • Email

नई दिल्ली: भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के चेयरमैन रजनीश कुमार ने मंगलवार को कहा कि बैंक लागत घटाने, युक्तिकरण, और अपनी श्रमशक्ति की कुशलता बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करेगा। बैंक की 65वीं वार्षिक आम सभा की बैठक(एजीएम) में कुमार ने कहा, "लागत घटाने, युक्तिकरण, और श्रमशक्ति की कुशलता बढ़ाने, स्टाफ की उत्पादकता बढ़ाने, और प्रशासनिक कार्यालयों से श्रमशक्ति को सेल्स की भूमिका में तैनाती पर ध्यान दिया जाएगा।"

उन्होंने यह भी कहा कि बैंक उभरते संकट पर लगातार नजर रखेगा और अपने उपभोक्ताओं की मदद के लिए तथा संपत्ति गुणवत्ता बनाए रखने के लिए आगे बढ़कर कदम उठाएगा।

कुमार ने शेयरधारकों से कहा कि साथ ही बैंक किसी भी स्थान से काम करने के लिए 'वर्क फ्रॉम एनीवेयर' (डब्ल्यूएफए) अवसंरचना भी स्थापित करेगा, और कामकाजी जीवन के संतुलन के सामाजिक पक्षों का ख्याल रखा जाएगा। इस कदम से लागत घटाकर 1,000 करोड़ रुपये बचाए जा सकते हैं और कोविड-19 संकट के दौरान यह बैंक कारोबार की निरंतरजा के लिए एक प्रमुख उपकरण होगा।

चेयरमैन ने एमएसएमई सेगमेंट पर बैंक के जोर को रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत पैकेज द्वारा एमएसएमई के लिए पैदा किए गए अवसरों की तर्ज पर बैंक ने माइक्रो मार्केट में मूल्य डालने के लिए एक 'फायनेंशियल इनक्लूसन एंड माइक्रो मार्केट' स्थापित किया है, जिसका बिजनेस मॉडल लागत प्रभावी है। बैंक में एसएमई रीवैंप पहले से प्रक्रिया में है।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.