कमजोर कारोबारी रुझानों के चलते 35000 के नीचे रहा सेंसेक्स, निफ्टी 10312 पर
Tuesday, 30 June 2020 06:42

  • Print
  • Email

मुंबई: विदेशी बाजारों से मिले कमजोर संकेतों से सोमवार को घरेलू बाजार में बिकवाली का दबाव बना रहा। कोरोना के कहर से देश का आर्थिक विकास मंद रहने की आशंकाओं से भी कारोबारी रुझान कमजोर रहा। सेंसेक्स पिछले सत्र से 209.75 अंक यानी 0.60 फीसदी फिसलकर 34961.52 पर बंद हुआ। निफ्टी भी पिछले सत्र से 70.60 अंकों यानी 0.68 फीसदी की कमजोरी के साथ 10,312.40 पर बंद हुआ।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सत्र से 244.32 अंक फिसलकर 34,926.95 पर खुला और दिनभर के कारोबार के दौरान 34,662.06 तक लुढ़का, जबकि ऊपरी स्तर 35032.36 रहा।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी भी बीते सत्र के मुकाबले 71.05 अंकों की कमजोरी के साथ 10311.95 पर खुला और कारोबार के दौरान 10,223.60 तक लुढ़का, जबकि निफ्टी का ऊपरी स्तर 10337.95 रहा।

बीएसई मिडकैप सूचकांक 184.72 अंकों यानी 1.39 फीसदी की गिरावट के साथ 13,073 पर बंद हुआ, जबकि स्मॉलकैप सूचकांक पिछले सत्र से 155.84 अंकों यानी 1.23 फीसदी की गिरावट के साथ 12,474.44 पर बंद हुआ।

बीएसई के 30 शेयरों में से नौ शेयरों में तेजी रही, जबकि 21 शेयर गिरावट के साथ बंद हुए। सबसे अधिक तेजी वाले पांच शेयरों में एचडीएफसी बैंक (1.97 फीसदी), युनीलीवर (1.30 फीसदी), कोटक बैंक (1.27 फीसदी), भारती एयरटेल (1.24 फीसदी) और आईटीसी (1.08 फीसदी) शामिल रहे।

सेंसेक्स के सबसे अधिक गिरावट वाले पांच शेयरों में एक्सिस बैंक (4.78 फीसदी), टेक महिंद्रा (3.47 फीसदी), एसबीआईएन (2.87 फीसदी), एलएंडटी (2.65 फीसदी) और इंडसइंड बैंक (2.50 फीसदी) शामिल रहे।

बीएसई के 19 सेक्टरों में 17 में गिरावट रही, जबकि दो सेक्टरों के सूचकांक बढ़त के साथ बंद हुए। सबसे ज्यादा गिरावट वाले पांच सेक्टरों में रियल्टी (2.94 फीसदी), धातु (2.53 फीसदी), पूंजीगत वस्तुएं (2.34 फीसदी), इंडस्ट्रियल (1.89 फीसदी) और पॉवर (1.79 फीसदी) शामिल रहे। वहीं, टेलीकॉम (1.38 फीसदी) और एफएमसीजी (0.84 फीसदी) बढ़त के साथ बंद हुए।

बीएसई पर कुल 3168 शेयरों में कारोबार हुआ, जिनमें से 1252 शेयरों में तेजी रही, जबकि 1766 शेयर गिरावट के साथ बंद हुए। वहीं, 150 शेयर बिना किसी बदलाव के बंद हुए।

रेटिंग एजेंसी ने चालू वित्त वर्ष में भारत की आर्थिक विकास दर में पांच फीसदी की गिरावट का अनुमान लगाया है। आर्थिक विकास दर कमजोर रहने के अनुमान का असर सोमवार को भारतीय शेयर बाजार पर दिखा।

-- आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss