Print this page

कच्चे तेल में नरमी से मिल सकती है पेट्रोल, डीजल की महंगाई से राहत
Monday, 29 June 2020 08:23

नई दिल्ली: अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में बीते सप्ताह नरमी बनी रही और कोरोनावायरस का प्रकोप गहराने और वैश्विक आर्थिक विकास की गति मंद रहने से तेल के दाम पर दबाव रहने की संभावना है।

बेंचमार्क कच्चे तेल ब्रेंट क्रूड का भाव बीते सप्ताह की शुरुआत में 43.93 डॉलर प्रति बैरल तक उछला, जो बीते करीब 10 सप्ताह के बाद का सबसे उंचा स्तर है। लेकिन सप्ताह के अंत में ब्रेंट क्रूड का भाव करीब करीब ढाई डॉलर टूटकर 41.02 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ।

एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट (एनर्जी एवं करेंसी रिसर्च) अनुज गुप्ता बताते हैं कि कच्चे तेल के दाम में बीते दो महीने में काफी तेजी आ चुकी है और अब आगे तेजी की संभावना कम है। उन्होंने कहा कि ओपेक द्वारा तेल के उत्पादन में कटौती से कीमतों में तेजी पहले ही आ चुकी है और कोरोना के गहराते प्रकोप से आगे तेल के दाम पर दबाव देखने को मिल सकता है।

इधर, तेल विपणन कंपनियों ने रविवार को 21 दिनों बाद डीजल के दाम में कोई बदलाव नहीं किया और पेट्रोल की कीमत भी स्थिर रही। बीते तीन सप्ताह के दौरान डीजल के दाम में रोजाना वृद्धि हुई है और पेट्रोल के भाव में भी एक दिन को छोड़ बाकी 20 दिन बढ़ोतरी की गई है।

गुप्ता कहते हैं कि पेट्रोल और डीजल के दाम में बीते तीन सप्ताह में काफी बढ़ोती हो चुकी है, इसलिए आगे और बढ़ोतरी की संभावना कम है।

देश की राजधानी दिल्ली में बीते तीन सप्ताह के दौरान डीजल 11.01 रुपये लीटर महंगा हो गया है, जबकि पेट्रोल का दाम 9.12 रुपये लीटर बढ़ गया है।

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल का भाव बिना किसी बदलाव के क्रमश: 80.38 रुपये, 82.05 रुपये, 87.14 रुपये और 83.59 रुपये प्रति लीटर पर बना हुआ है। डीजल का दाम भी चारों महानगरों में पूर्ववत क्रमश: 80.40 रुपये, 75.52 रुपये, 78.71 रुपये और 77.61 रुपये प्रति लीटर बना हुआ है।

इससे पहले शनिवार को तेल विपणन कंपनियों ने पेट्रोल का भाव दिल्ली में 25 पैसे, कोलकाता और मुंबई में 23 पैसे जबकि चेन्नई में 22 पैसे प्रति लीटर बढ़ा दिया था। डीजल की कीमत भी एक दिन पहले दिल्ली में 21 पैसे, कोलकाता में 18 पैसे, मुंबई में 20 पैसे और चेन्नई में 17 पैसे प्रति लीटर बढ़ गई थी।

-- आईएएनएस