कोरोना ग्रस्त इटली को निर्यात ठप होने से केरल के कॉफी उत्पादक मुश्किल में
Thursday, 09 April 2020 18:04

  • Print
  • Email

वायनाड (केरल): इटली में कोरोनावायरस के प्रकोप के कारण केरल के कॉफी उत्पादकों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। केरल के वायनाड में विशेष तौर पर पैदा होने वाली 'इंडियन रोबस्टा' कॉफी का सबसे बड़ा आयातक इटली है। इस समय इटली ही कोविड-19 का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट बना हुआ है, जिसका वितरीत असर यहां कॉफी उत्पादकों पर पड़ रहा है। इटली में कोरोना संक्रमण की वजह से अब तक 17,000 से अधिक मौतें हो चुकी हैं, जबकि 1.30 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं।

कॉफी ग्रोअर्स एसोसिएशन से जुड़े प्रशांत राजेश के अनुसार, इटली में इंडियन रोबस्टा किस्म का कुल निर्यात लगभग 65,000 टन है।

राजेश ने कहा, इनमें से करीब 50,000 टन का निर्यात वायनाड से ही होता है। पिछले दो सालों से तो बाढ़ ने कहर बरपाया था और इस बार इटली कोविड-19 के कारण प्रभावित हो गया। इसलिए हालात ठीक नहीं हैं।

केरल में 2018-19 में कॉफी का कुल उत्पादन 64,676 टन दर्ज किया गया और यहां अच्छी संख्या में घरेलू कॉफी संयंत्र भी हैं।

पूर्व विधायक एम. वी. श्रेयम्स कुमार ने आईएएनएस को बताया कि वह वायनाड में कई पीढ़ियों से कॉफी बागानों के साथ जुड़े रहे हैं।

उन्होंने कहा, वायनाड में उत्पादकता कम हो रही है। अब यह दो टन प्रति एकड़ के आसपास ही रह गई है। यह काफी नीचे आ गई है। इटली रोबस्टा किस्म के लिए प्रमुख बाजार है, जिसमें अन्य क्षेत्रों के साथ वायनाड का नेतृत्व रहता है।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss