Print this page

आरबीआई ने पीएमसी बैंक से निकासी की सीमा 50,000 रुपये की
Wednesday, 06 November 2019 04:19

मुंबई: संकटग्रस्त पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक (पीएमसी) की तरलता की स्थिति की समीक्षा के बाद भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने बैंक जमाकर्ताओं के लिए निकासी की सीमा मंगलवार को 40,000 रुपये से बढ़ाकर 50,000 रुपये कर दी। केंद्रीय बैंक ने पिछले महीने बैंकिंग नियमन अधिनियम के प्रावधानों के तहत नियामकीय प्रतिबंध लागू करने के बाद से यह चौथी बार निकासी सीमा बढ़ाई है।

आरबीआई ने कहा कि इस राहत के साथ बैंक के 78 प्रतिशत जमाकर्ता अपनी पूरी राशि की निकासी करने में सक्षम होंगे।

आरबीआई ने शुरुआत में 1,000 रुपये निकासी की अनुमति दी थी, और उसके बाद उसने 25,000 रुपये, फिर 40,000 रुपये और अब मंगलवार को 50,000 रुपये निकासी की सीमा निर्धारित की है। लेकिन उपभोक्ता अपने खातों तक पूरी तरह पहुंच की मांग कर रहे हैं।

आरबीआई के एक बयान में कहा गया है, "पीएमसी की तरलता की स्थिति और जमाकर्ताओं को भुगतान की उसकी क्षमता की समीक्षा करने के बाद आरबीआई ने निकासी की सीमा 50,000 रुपये तक बढ़ाने का निर्णय लिया है।"

आरबीआई ने आगे कहा कि जमाकर्ताओं को बैंक के खुद के एटीएम से 50,000 रुपये तक की राशि निकालने की अनुमति देने का निर्णय लिया गया है और इस कदम के बाद बैंक के 78 प्रतिशत जमाकर्ता अपने खातों से पूरी राशि निकालने में सक्षम होंगे।

बयान में कहा गया है, "रिजर्व बैंक स्थिति पर बराबर नजर रखे हुए है और बैंक के जमाकर्ताओं के हित की सुरक्षा के लिए आवश्यक कदम उठाता रहेगा।"

उल्लेखनीय है कि पीएमसी बैंक उस समय संकट में आ गया, जब बैंक से कर्ज लेने वाली हाउसिंग डेवलपमेंट एंड इंफ्रास्ट्रक्च र लिमिटेड (एचडीआईएल) ने दिवालिया बोल दिया। बैंक द्वारा दिए गए कुल कर्ज का 73 प्रतिशत हिस्सा अकेले एचडीआईएल को दिया गया था।

इस घोटाले के सामने आने के बाद मुंबई में कोहराम मच गया, और जमाकर्ता विरोध प्रदर्शन पर उतर आए।

--आईएएनएस