बिहार में आग ने ली 8 की जान, सैकड़ों घर राख
Saturday, 06 April 2013 11:09

  • Print
  • Email

बिहार की राजधानी पटना सहित राज्य के मुंगेर, समस्तीपुर और पश्चिम चंपारण जिले में शुक्रवार को आग लगने की घटनाओं में आठ लोगों की मौत हो गई और सैकड़ों घर और दुकानें जलकर राख हो गईं। पटना के कोतवाली थाना क्षेत्र के न्यू मार्केट में दोपहर को आग लगने के कारण 100 से ज्यादा दुकानें जलकर राख हो गईं। दुकानदारों को लाखों रुपये का नुकसान हुआ है। पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मनु महाराज ने बताया कि आग लगने के कारणों का अब तक पता नहीं चल पाया है। उन्होंने कहा कि छह दमकल गाड़ियों ने आग पर पूरी तरह काबू पा लिया है।

पिछले शुक्रवार को गर्दनीबाग इलाके में गुमटी नंबर 15 के पास बनी झोपड़पट्टी के एक घर में आग लग जाने से शंभु प्रसाद सहित उनके परिवार के पांच लोगों की मौत झुलसने के कारण हो गई। मृतकों में दो महिलाएं और दो बच्चे शामिल हैं। मृत बच्चों की उम्र क्रमश: आठ और पांच वर्ष बताई जा रही है।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि शवों को पोस्टमार्टम के लिए पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल (पीएमसीएच) भेज दिया है। आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा है। शंभु औरंगाबद जिले के रहने वाले हैं जो पटना में एक निजी कंपनी में काम किया करते थे। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है।

इधर, मुंगेर जिला के दो विभिन्न स्थानों में भी आग लगने से करीब 350 घर जलकर राख हो गए। समस्तीपुर जिले के चकवा गांव में अचानक लगी आग से 50 घर जलकर नष्ट हो गए जबकि आग से झुलसकर प्रमिला देवी और उसके पुत्र राजेश कुमार की झुलसकर मौत हो गई। इसके अतिरिक्त रमैया गांव भी अगलगी की घटना से 100 घर बुरी तरह नष्ट हो गए तथा एम व्यक्ति की झुलस जाने से मौत हो गई।

बिहार के वाल्मीकिनगर वन क्षेत्र के 100 एकड़ में भी आग लगने की सूचना है। आग को बुझाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं।

राज्य के आपदा प्रबंधन विभाग की मंत्री रेणु कुशवाहा ने कहा कि अगलगी की घटनाओं की क्षतिपूर्ति के लिए विभाग सभी घटनाओं में हुए नुकसान का आकलन करवा रही है। उन्होंने कहा कि आकलन के बाद प्रभावित परिवारों को मुआवजा दिया जाएगा।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss