ब्रिटेन: हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री में काम कर रहे भारतीयों के आधुनिक गुलामी में फंसने का बड़ा खतरा

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

लंदन: ब्रिटेन में हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री में काम कर रहे भारतीयों के आधुनिक गुलामी में फंसने का बड़ा खतरा है. देश में काम करने वालों के उत्पीड़न के ऊपर एक रिपोर्ट जारी की गई है जिसमें ये चिंता जताई गई है.

ब्रिटेन के गैंगमास्टर्स एंड लेबर एब्यूज अथॉरिटी (जीएलएए) की एक नई रिपोर्ट में पाया गया है कि ब्रिटेन के आधुनिक गुलामी एक्ट के लागू होने के बाद आधुनिक गुलामी के पीड़ितों में भारत दुनिया के उन 10 देशों में शामिल है जहां के नागरिकों का आधुनिक गुलामी के शिकार होने का खतरा है.

 

इन देशों में वियतनाम सबसे ऊपर है, इसके बाद रोमानिया, पोलैंड, चीन, सूडान और भारत जैसे देशों का नंबर आता है. इस रिपोर्ट में बताया गया है कि भारतीय लोग आम तौर पर होटल और रेस्टरेंट के सेक्टर में काम करते हुए पाए जाते हैं.

 

भारत की पहचान ऐसे ‘भीषण खतरे’ वाले देश के सोर्स के रूप में हुई है जहां से आधुनिक गुलाम ब्रिटेन में प्रवेश करते हैं. इस रिपोर्ट का शीर्षक ‘द नेचर एंड स्केल ऑफ लेबर एक्सप्लोयटेशन अक्रॉस ऑल सेक्टर्स विदइन द यूनाइटेड किंगडम’ है.

जीएलएए ने अाधुनिक गुलामी को समझाते हुए कहा है कि ये कर्ज आधारित गुलामी होती है. ऐसी स्थिति में वो लोग होते हैं जिनके ऊपर ऐसा कर्ज है जो उनके कंट्रोल में नहीं होता. उनसे ये कर्ज इसी गुलामी के तहत भरवाया जाता है. अक्सर उनके बैंक खातों और सैलरी पर उन्हें गुलाम बनाने वालों का कंट्रोल होता है

POPULAR ON IBN7.IN