चीन को मिलने जा रहा अंतरमहाद्वीपीय मिसाइल, भारत समेत पूरी दुनिया में कहीं भी गिरा सकेगा परमाणु बम

चीन की सेना में लंबी दूरी वाली एक ऐसी अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल अगले साल शामिल हो सकती है जो कई परमाणु हथियारों को एक साथ ले जाने सहित दुनिया के किसी भी स्थान के लक्ष्य को भेदने में सक्षम होगी। एक मीडिया रिपोर्ट से इसकी जानकारी मिली है।यह नई मिसाइल डोंगफेंग-41, मैक 10 से भी ज्यादा तीव्र गति वाली है। यह दुश्मनों की मिसाइल चेतावनी और रक्षा प्रणाली में भी सेंध मारने में सक्षम है।

सरकारी मीडिया हाउस ग्लोबल टाइम्स ने बताया कि साल 2012 में इस मिसाइल की घोषणा होने के बाद से अब तक इसका आठ बार परीक्षण हो चुका है और यह पीपल्स लिबरेशन आर्मी में 2018 में शामिल हो जाएगी। चीन आर्म्स कंट्रोल एंड डिसआर्मामेंट एसोसिएशन के वरिष्ठ सलाहकार शु गुआंगु ने कहा कि अगर यह मिसाइल सेना में सेवा देना शुरु करती है तो इसे काफी मजबूत होना होगा। ग्लोबल टाइम्स ने गुआंगु को यह कहते हुए उद्धृत किया कि डोंगफेंग-41 तीन स्तरीय ठोस ईंधन मिसाइल है और इसमें कम से कम 12,000 किलोमीटर की मारक क्षमता है।

इसका मतलब यह हुआ कि यह चीन से दुनिया के किसी कोने में भी निशाना साधा जा सकता है. यह मिसाइल 10 परमाणु हथियारों को एक साथ ले जा सकती है और अलग-अलग निशान लगा सकती है।