स्कूल में रेप करता था टीचर, स्टूडेंट को मिला 320 करोड़ रुपए का मुआवजा

अमेरिका में रेप के एक मामले में पीड़िता को तकरीबन 320 करोड़ रुपए का मुआवजा मिला है। क्लासरूम में उसका पूर्व जॉमेट्री टीचर सेमेस्टर भर तक उसका रेप करता रहा था। घटना के वक्त पीड़ित छात्रा की उम्र 16 साल थी। बुधवार को उसने ‘एनबीसी न्यूज 6’ से इस पर बात की। कहा कि उस दिन वह असहज हो गई थी। वह उस घटना के बारे में न सोचने की कोशिश करती है। न ही उस विषय पर बात करना पसंद करती है। मामला 2013 का है, जब पीड़िता ने अपने ही टीचर ब्रेस्नियल जेनसेन मोन्स (35) के बारे में कहा था कि वह मियामी डेड सोमोफोर के दौरान उससे जबरन शारीरिक संबंध बनाने लगा था। साल 2014 में उस पर पहली रेप का आरोप लगा था, जिसके बाद उसकी गिरफ्तारी भी हुई थी।

मियामी हेरार्ड के मुताबिक इस मामले में ज्यूरी ने फैसला सुनाते हुए कहा कि आरोपी को नौ लाख तीन हजार नौ सौ तेंतीस रुपए पीड़ित छात्रा को पहले के चिकित्सा खर्चों के तौर पर देने होंगे। जबकि, एक करोड़ 65 लाख 75 हजार 51 रुपए उसके भविष्य की चिकित्सा खर्चों के रूप में देने पड़ेंगे। 26 करोड़ रुपए मानसिक पीड़ा और दुख के लिए और तकरीबन 94 करोड़ रुपए भविष्य की मानसिक पीड़ा और दुख के लिए चुकाने होंगे।

वहीं, ज्यूरी ने भी पीड़िता को दंडात्मक हर्जाने के रूप में 189 करोड़ रुपए दिए हैं। कोर्ट के रिकॉर्ड में आरोपी ने आरोप कबूले हैं, जिसके बाद उसे छह महीने के लिए जेल भेज दिया गया था। जेल से छूटने के बाद 10 साल तक के लिए उसे प्रोबेशन दिया गया। फिलहाल उस पर रेप का मामला दर्ज है। सीआरआस ट्रायल अटॉर्नी जॉन लेटन और मैक्स पैनॉफ ने बताया कि मोन्स ने इससे पहले भी एक अन्य स्कूल में नाबालिग लड़की से छेड़खानी की थी।

POPULAR ON IBN7.IN