आतंकियों से मिले पाक खुफिया एजेंसी के प्रमुख, भारत के खिलाफ केमिकल वॉर की तैयारी: रिपोर्ट

समाचार चैनल टाइम्स नाउ ने दावा किया है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल नवीद मुख्तार और पाकिस्तानी सेना के प्रतिनिधि ने पिछले महीने आतंकवादियों से मुलाकात करके जैविक युद्ध के बारे में चर्चा की थी। टीवी चैनल ने खुफिया एजेंसियों के सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि नौ अक्टूबर को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के बाग़ जिले में ये मुलाकात हुई थी। नवीद मुख्तार से मिलने वालों में हिज्बुल मुजाहिद्दीन और जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी शामिल थे। टाइम्स नाउ के अनुसार इस बैठक में नवीद मुख्तार के अलावा आईएसआई के तीन और अफसर ब्रिगेडियर हाफिज अहमद, लेफ्टिनेंट कर्नल जावेद अहमद और मेजर जफर अली शामिल थे। बैठक में पाकिस्तानी सेना की तरफ से कैप्टन मंसूर अली शामिल थे। बैठक में हिज्बुल का दुर्दांत आतंकी जुड्डा खान और जैश का खतरनाक आतंकवादी जावेद अख्तर भी शामिल थे।

टाइम्स नाउ के दावे के अनुसार आईएसआई प्रमुख नवीद ने आतंकवादियों से कहा कि ठंड बढ़ने से पहले ही उन्हें जम्मू-कश्मीर में अपनी स्थिति मजबूत करनी है और उन्हें पर्याप्त आर्थिक संसाधन दिए जाएंगे। ठंड में बर्फबारी के कारण जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ मुश्किल हो जाती है। टाइम्स नाउ के अनुसार भारतीय खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट में कहा गया है कि “आईएसआई चीफ ने आतंकवादियों को पैसे देने का जिम्मा बैठक में शामिल पाकिस्तानी सेना के अफसर को दिया। आतंकवादियों को ठंड और बर्फबारी से पहले ही भारत में घुसपैठियों को घुसा देने का आदेश दिया।” रिपोर्ट के अनुसार आईएसआई प्रमुख ने कश्मीर में निष्क्रिय आतंकवादियों को भी सक्रिय हो जाने का आदेश दिया।

रिपोर्ट के अनुसार इस बैठक में आईएसआई प्रमुख ने रासायनिक युद्ध के लिए चीन में प्रशिक्षित पाकिस्तानी अफसरों को भारत-पाकिस्तान नियंत्रण रेखा पर तैनात करने की संभावना पर भी विचार-विमर्श किया। खुफिया रिपोर्ट के हवाले से चैनल ने दावा किया है कि पाकिस्तानी सेना के 20 अफसर चीन में रासायनिक युद्ध की ट्रेनिंग ले रहे हैं।

 

POPULAR ON IBN7.IN