डेटिंग गर्ल्‍स : इस देश में कॉलेज छात्राओं और उम्रदराज पुरुषों के बीच डेटिंग का बढ़ता चलन

टोक्‍यो: वैसे तो कई मुल्‍कों में हाई स्‍कूल डेटिंग का चलन कोई बड़ी बात नहीं है लेकिन जापान में यह कल्‍चर कई मायनों में खास है. दरअसल इस देश में 'हाई स्‍कूल डेटिंग' का ऐसा चलन दिख रहा है जिसमें हाई स्‍कूली छात्राएं कई बड़े रेस्‍टोरेंट, कैफे और बार में 40-50 की उम्र वाले पुरुषों के साथ डेटिंग करते हुए देखी जा सकती हैं. कई बार में तो बाकायदा इन छात्राओं को पार्ट टाइम जॉब के रूप में ड्रिंक सर्व करते भी देखा जा रहा है. इस संबंध में यहां के एक आदमी का कहना है, ''दरअसल इस तरह की लड़कियों के साथ बातचीत करना अपेक्षाकृत आसान होता है.''  

एक दूसरे शख्‍स ने कहा, आमतौर पर आजकल बार बोरिंग होते जा रहे हैं. वहां पर सर्व करने वाली महिलाएं भी उम्रदराज होती है. उसकी तुलना में ड्रेस में स्‍कूली छात्राएं ज्‍यादा आकर्षक लगती हैं. उनका मानना है कि दरअसल स्‍कूली यूनिफॉर्म आकर्षण की एक बड़ी वजह है. जापान में इसको JK या हाई स्‍कूल डेटिंग बिजनेस कहा जा रहा है. JK का पूरा नाम जोशी कोसेई हैं. जापानी भाषा में इसका अर्थ हाई स्‍कूल गर्ल होता है.

इस मामले में ओसाका यूनिवर्सिटी की सोशियोलॉजी और जेंडर स्‍टडीज की प्रोफेसर केज्‍यू मूटा का कहना है कि दरअसल जापान पितृसत्‍तात्‍मक समाज है और इसके पीछे कुछ सामाजिक वर्ज्‍यनाएं हैं जिसकी परिणति के रूप में इस चलन को देखा जाना चाहिए. दरअसल यह खास किस्‍म की मानसिकता को दर्शाता है जिसके तहत स्‍कूली यूनिफॉर्म में लड़कियां ज्‍यादा आकर्षक लगती हैं.