आलू के चिप्स में लगी 'आग', 800 रुपए में बिक रहा एक पैकेट

टोक्यो: आप मार्केट में सब्जी खरीदने जाएं और दुकानदार आपको आलू की कीमत 800 रुपए प्रति किलो बताए तो जरा सोचिए उस वक्त आपका रिएक्शन क्या होगा? ऐसी घटनाएं इन दिनों हर रोज जापान की सब्जी दुकानों में देखने को मिल रहा है. जापान में केवल आलू ही नहीं, इससे बनने वाले चिप्स की कीमतों में भी बेतहाशा बढ़ोत्तरी हुई है. आलम यह है कि 100 रुपए में बिकने वाला आलू चिप्स का पैकेट के लिए 800 रुपए तक वसूले जा रहे हैं. यहा के सुपरमार्केट में आलू से बनने वाले कई प्रोडक्ट्स इन दिनों नहीं आ रहे हैं. खराब मौसम से जापान में आलू की पैदावार कम हुई है. तूफान और बाढ़ से फसलें भी बिगड़ी हैं. कंपनियों ने प्रोडक्शन रोक दिया है. इसका फायदा कुछ ग्रॉसरी साइट्स उठा रही हैं,100 रुपए वाले चिप्स के पैकेट के लिए ये 800 तक वसूल रही हैं. 

आलू की चिप्स और कुरकुरे जैसे प्रोडक्ट्स बनाने वाली दो दिग्गज कंपनियों ने पिछले कुछ दिनों से प्रोडक्शन बंद कर दिया है. परेशान कस्टमर खाली पड़े सुपरमार्केट और शेल्फ की तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे हैं. साथ ही कमेंट्स के जरिए बता रहे हैं कि वो इससे कितने निराश हैं. जैसे एक यूजर ने लिखा है ‘चिप्स मिलना बंद हुई तब मुझे पता चला कि मैं इसका आदी हो चुका हूं, अब मुझे इस बात का इंतजार है कि सप्लाई जल्द से जल्द नॉर्मल हो जाए. इसके लिए मैं रोज सुपर मार्केट का एक राउंड जरूर लगाता हूं.' 

जापान की जानी-मानी स्नैक्स कंपनी केल्बी ने 15 तरह की चिप्स अस्थाई रूप से बेचना बंद कर दिया है और 18 प्रोडक्ट हमेशा के लिए बंद कर दिए हैं. जापान की पसंदीदा कारामुचा क्रिस्प बनाने वाली कोइके-या कंपनी ने अपने 9 प्रोडक्ट्स अस्थाई तौर पर बंद किए हैं वहीं 7 स्नैक आइटम्स हमेशा के लिए बंद कर दिए हैं. जापान में 80% आलू का उत्पादन होक्काइडो प्रांत में होता है. 

एग्रीकल्चर मिनिस्ट्री के रिकॉर्ड्स के मुताबिक ये द्वीप 1983 से आलू के लिए आदर्श बना हुआ है. तब से अब तक कोई परेशानी नहीं आई. हालांकि केल्बी ने 2015 में 15% आलू अमेरिका से बुलवाए थे ताकि परेशानी न आए. पिछले साल ये मात्रा बढ़ाई पर स्थिति नहीं संभली. सालभर में देश में आलू के खुदरा दाम 8.6% तक बढ़ गए हैं. कंपनी के प्रवक्ता का कहना है ‘बिक्री सामान्य हो, इसकी कोशिश की जा रही है.'

POPULAR ON IBN7.IN