राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए सुरक्षित नहीं है व्हाइट हाउस : अमेरिकी सीक्रेट सर्विस

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपतियों को सुरक्षा दे चुके सीक्रेट सर्विस के एक पूर्व एजेंट ने आगाह किया है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप व्हाइटहाउस में सुरक्षित नहीं हैं और आतंकवादी हमले की स्थिति में सीक्रेट सर्विस भी उनकी रक्षा करने में नाकाम रहेगी। सीक्रेट सर्विस के पूर्व एजेंट डान बोनगिनो का यह बयान एक व्यक्ति के व्हाइटहाउस की बाड़ के अंदर कूद कर आ जाने और उच्च सुरक्षा वाले इस स्थान पर करीब 15 मिनट तक घूमने वाले एक व्यक्ति को गिरफ्तार किए जाने की घटना के एक सप्ताह बाद आया है।

फॉक्स न्यूज की एक रिपोर्ट में बोनगिनो ने कहा, ‘घुसपैठिए ने अनेकों अलार्म बंद किए, उसे अनेकों अधिकारियों ने भी देखा, लेकिन उस पर कोई खास ध्यान नहीं दिया। और यह बड़ी बात है।’

बोनगिनो बराक ओबामा और जॉर्ज डब्ल्यू बुश को सुरक्षा प्रदान कर चुके हैं। उन्होंने कहा, ‘यह दिखाता है कि राष्ट्रपति वहां व्हाइटहाउस में सुरक्षित नहीं है। सीक्रेट सर्विस के पास सुविधाएं नहीं हैं, उनके पास जवान नहीं हैं जो कि उन्हें सुरक्षित रखने के लिए जरूरी हैं।’ साथ ही दावा किया कि यदि किसी तरह का आतंकवादी हमला होता है तो सीक्रेट सर्विस भी उनकी रक्षा करने में नाकाम रहेगी।

सीक्रेट सर्विस ने एक बयान जारी करके कहा था कि बाड लांघने वाले की पहचान कैलिफोर्निया के जोनाथन टी ट्रान :26: के तौर पर की गई है। यह घटना 11:21 बजे हुई और उसे 11:38 पर गिरफ्तार कर लिया गया था। उस वक्त ट्रंप अपने आवास पर थे।

बता दें कि ओबामा के समय भी व्हाइट हाउस की सुरक्षा में कई बार सेंध लग चुकी है। लोगों ने कूदकर चारदीवारी पार की। लेकिन 20 जनवरी को ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद यह पहली घटना है। सुरक्षा पर असर डालने वाला एक और मामला भी सामने आया है। न्यूयॉर्क में एक सीक्रेट सर्विस एजेंट का लैपटॉप चोरी होने की जानकारी मिली है। इस लैपटॉप में सुरक्षा संबंधी संवेदनशील जानकारियां थीं।

  • Agency: IANS