Whatsapp ग्रुप एडमिन के लिए पुलिस ने जारी की हैं ये गाइडलाइन

अगर आप भी WhatsApp यूज करते हैं और किसी वॉट्सऐप ग्रुप के एडमिन हैं तो आपके लिए कुछ चेतावनी जारी की गई हैं। वॉट्सऐप ग्रुप को लेकर महाराष्ट्र के परभणी जिले की पुलिस ने कुछ चेतावनी जारी की जिसे आपको जरूर जानना चाहिए। आज हम आपको पुलिस द्वारा जारी की गई चेतावनी के बारे में बताने जा रहे हैं। पुलिस ने ग्रुप एडमिन्स को यह मॉनिटर करने की बात कही है कि वे देखें कि ग्रुप में कौन-क्या पोस्ट कर रहा है। किसी भी मैसेज में टेक्स्ट, ऑडियो या वीडियो में ऐसा कंटेंट नहीं होना चाहिए जिससे किसी तरह का तनाव पैदा हो। हालांकि ये गलतियां ऐसी हैं कि पूरे देश में कोई भी ग्रुप एडमिन इन्हें करता है तो पुलिस उसे गिरफ्तार कर सकती है। सोशल मीडिया से फैलती अफवाहों को रोकने के लिए ग्रुप एडमिन के अधिकार दिए हैं। उसे अपने ग्रुप के मेबंर को संभालकर रखना होगा। इसके लिए कुछ पॉइन्ट्स निर्धारित किए गए हैं।

आपके व्हाट्सऐप ग्रुप द्वारा किसी भी प्रकार के धार्मिक वीडियो, फोटो, टेक्स्ट, ऐतिहासिक आंकड़े शेयर नहीं होने चाहिए। ग्रुप में किसी जाति या धर्म की भावनाएं आहत या भावनाओं को भड़काने वाले कंटेंट नहीं शेयर नहीं होने चाहिए। यह नियम वीडियो, फोटो, ऑडियो और टेक्स्ट सभी फॉर्मेट पर लागू होगा। अगर ऐसे मामले में ग्रुप एडमिन दोषी पाया जाता है तो उसके ऊपर आईपीसी और इनइंफॉर्मेशन एक्ट के तहत कार्रवाई होगी।

आपको बता दें कि Whatsapp ने भारत में अपने बीटा वर्जन में पेमेंट का ऑप्शन दे दिया है। इसका ट्रायल काफी दिन से चल रहा है। वॉट्सऐप अपनी इस सर्विस के जरिए पियर टू पियर मनी ट्रांसफर को आसान बना रही है। अब आप अगर वॉट्सऐप के जरिए पेमेंट करेंगे तो इससे आपका बैंकिंग डेटा भी वॉट्सऐप के पास जाएगा। इस डेटा को लेकर कंपनी का कहना है कि वह अपनी पॉलिसी के तहत अपने यूजर्स के डेटा को अपनी पेरेंट कंपनी के साथ शेयर कर सकती है। आपको बता दें कि वॉट्सऐप की पेरेंट कंपनी फेसबुक है। फेसबुक पर पहले ही यूजर्स के डेटा के गलत इस्तेमाल करने के आरोप लग रहे हैं।

 

POPULAR ON IBN7.IN