डिजिटल नवाचार को जमीन पर उतारने का समय : रिलायंस

भारत के पास जमीनी स्तर पर रोजगार, उद्यम और नवाचार के क्षेत्र में डिजिटल आंदोलन शुरू करने का अद्भुत अवसर है। इंडिया मोबाइल कांग्रेस(आईएमसी) 2017 के समापन के दिन रिलांयस जियो के नेटवर्क, वैश्विक रणनीति और सेवा विकास के अध्यक्ष मैथ्यू ओमन ने कहा, "देश के पास न केवल रोजगार पैदा करने की क्षमता है, बल्कि तालुका स्तर तक नवाचार पैदा करने की भी क्षमता है।"

ओमन ने कहा, "इसे डिजिटल युग का पंचायती राज कहते हैं। हमारे पास अंतहीन संभावनाएं हैं। डिजिटल इंडिया, मेक इन इंडिया और स्टार्ट-अप इंडिया जैसे कार्यक्रमों से हम कतार में खड़े अंतिम व्यक्ति के लिए अवसर पैदा कर सकते हैं।"

उन्होंने कहा, "एलटीई का मतलब मेरे लिए 'लर्न टू अर्न' प्रौद्योगिकी है। यह एक बड़ा प्रतिमान स्थापित होने वाला है, जिससे डिजिटल सशक्तिकरण आएगा और स्थापित होगा तथा एक सुरक्षित और डिजिटल भारत बनेगा।"

उन्होंने कहा कि मेरे अनुसार वर्ष 2017 बढ़े हुए अवसर का समय है।

ओमन ने कहा, "कृत्रिम बुद्धिमत्ता(एआर), आभाषी वास्तिवकता(वीआर), दृश्य ग्राफिक्स, प्राकृतिक भाषा संस्करण और प्राकृतिक भाषा सोच के साथ जिस तरह से हम व्यापार कर रहे हैं, उससे बहुत जल्दी ही बदलाव आएगा।"

डाटा सुरक्षा को बढ़ाने की जरूरत पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि हमारे देश और हरेक व्यक्ति की निजता व सुरक्षा आज हमारी मुख्य जिम्मेदारी है।

उन्होंने कहा कि किसी को भी हमें यह बताने की जरूरत नहीं है कि हम यह कैसे करें। हमलोग काफी बुद्धिमान हैं और हमारे पास ऐसा करने के लिए आधारभूत संरचना है।

POPULAR ON IBN7.IN